उत्तर प्रदेश: 8 जिलों में 600 से ज्यादा एक्टिव केस, जल्द नोएडा-गाजियाबाद में भी मिलेगी प्रतिबंधों से आजादी

देश
Updated Jun 05, 2021 | 20:10 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Noida-Ghaziabad Lockdown: नोएडा-गाजियाबद में कोरोना वायरस के सक्रिय मामले लगातार कम हो रहे हैं। जल्द ही यहां प्रतिबंधों से छूट मिलनी शुरू हो जाएगी।

lockdown
1 जून से यूपी में शुरू हुई अनलॉक की प्रक्रिया  |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • उत्तर प्रदेश में कोरोना के मामले लगातार कम हो रहे हैं
  • जहां 600 से कम एक्टिव केस हैं, वहां छूट मिलने लगी हैं
  • अभी 8 जिलों में 600 से ज्यादा सक्रिय मामले हैं

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना की चाल बहुत धीमी पड़ चुकी है। राज्य में अब 8 जिले ऐसे हैं जहां पर 600 से ज्यादा कोरोना वायरस के एक्टिव केस हैं। राज्य सरकार द्वारा तय किए गए मानक के अनुसार 600 से अधिक मरीज होने पर आंशिक कर्फ्यू लगाए जाने का आदेश है। जिन 10 जिलों में कोरोना के रोगी इस मानक से अधिक हैं, उसमें मेरठ में 1,452, सहारनपुर में 1,399, लखनऊ में 1,334, मुजफरनगर में 1,213, वाराणसी में 1,159, गोरखपुर में 880, गाजियाबाद में 677 और गौतमबुद्धनगर 665 रोगी हैं। यूपी के दो और जिलों में कोरोना कर्फ्यू खत्म हो गया है। बुलंदशहर और बरेली में भी अब कोरोना कर्फ्यू से छूट दी गई है। यूपी के 67 जिलों में कोरोना कर्फ्यू से राहत मिल गई है। हालांकि इन 67 जिलों में अब नाइट कर्फ्यू और साप्ताहिक लॉकडाउन जारी रहेगा।

ऐसे में 600 से कम मानक वाले जिन जिलों को कोरोना कर्फ्यू से छूट मिल रही है,वहां के लोगों की जिंदगी तेजी से पटरी पर लौट रही है।

कोरोना के हर फ्रंट से लगातार अच्छी खबरों के आने का सिसिला जारी है। 31 मई के बाद से एक दिन में आने वाले संक्रमण के नए केसेज की संख्या 1500 से नीचे बनी हुई है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे के दौरान नए केसेज की संख्या 1175 रही। कल यह संख्या 1268 थी। 24 अप्रैल को यह संख्या सर्वाधिक 38055 थी। इस दौरान स्वस्थ्य होने वालों की संख्या रही 3646। रिकवरी रेट सुधरकर 97.4 फीसद तक पहुंच गई। 24 अप्रैल को सक्रिय केसेज की संख्या रिकॉर्ड 3 लाख 10 हजार के करीब थी। उत्तर प्रदेश में सक्रिय मामलों की संख्या अब घटकर 19,438 हो गई है। रिकवरी दर प्रदेश में 97.6% हो गया है।

प्रभारी मंत्रियों को प्रभार वाले जिलों में जाने के निर्देश के बाद सीएम योगी खुद भी ग्राउंड जीरो पर गए। यही वजह रही की काम समय और कम संसाधनों में प्रदेश में कोरोना संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण लग सका। इसके लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन, नीति आयोग, मुंबई और इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कोरोना प्रबंधन के योगी मडल की तारीफ की। बावजूद इसके सरकार अब भी कोरोना को लेकर बेहद सतर्क है। मुख्यमंत्री योगी का साफ निर्देश है कि स्थानीय प्रशासन कोरोना कर्फ्यू के नियमों का कड़ाई से पालन कराए। 

(IANS के इनपुट के साथ)

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर