शिवसेना में शामिल होने की खबरों के बीच ये बोलीं उर्मिला मातोंडकर

देश
Updated Sep 17, 2019 | 15:26 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

कांग्रेस छोड़ चुकीं उर्मिला मातोंडकर ने स्पष्ट किया है कि वो कोई और पार्टी ज्वॉइन नहीं कर रही हैं। ये खबरें चल रही हैं कि वो शिवसेना में शामिल हो सकती हैं।

urmila Matondkar
उर्मिला मातोंडकर 

मुख्य बातें

  • उर्मिला मातोंडकर के शिवसेना में शामिल होने की खबरें आईं
  • 10 सितंबर को उन्होंने गुटबाजी का हवाला देकर कांग्रेस से इस्तीफा दिया
  • लोकसभा चुनाव से पहले वो कांग्रेस में शामिल हुईं, चुनाव लड़ीं लेकिन हार गईं

नई दिल्ली: हाल ही में कांग्रेस पार्टी छोड़ चुकीं अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर को लेकर खबरें चल रहीं हैं कि वो शिवसेना के संपर्क में हैं। उर्मिला शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के करीबी मिलिंद नार्वेकर के साथ संपर्क में हैं और इससे चर्चा है कि वो शिवसेना में शामिल हो सकती हैं। महाराष्ट्र में इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं। हालांकि एक्ट्रेस ने इस तरह की सभी खबरों को गलत बताया है। उन्होंने स्पष्ट किया है कि वो किसी भी पार्टी में शामिल नहीं हो रही हैं।

उन्होंने बयान जारी कर कहा, 'मैं किसी भी पार्टी में शामिल नहीं हो रही हूं, इसलिए मीडिया से एक विनम्र अनुरोध है कि वे जो कुछ भी सुनते हैं उसे साझा न करें। यह अनुचित है।' 

लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी में शामिल हुईं उर्मिला ने 10 सितंबर को पार्टी से इस्तीफा देने की घोषणा की थी। उर्मिला ने कांग्रेस से इस्तीफा देते हुए कहा कि उनके बार-बार कहने के बावजूद उन लोगों पर कार्रवाई नहीं की गई जिन्होंने उनके खिलाफ लोकसभा चुनाव में षड़यंत्र रचा, जिसके कारण वह चुनाव हार गईं।  

उन्होंने कहा, 'मेरी राजनीतिक और सामाजिक संवेदनाएं मुंबई कांग्रेस में एक बड़े लक्ष्य पर काम करने के बजाय घर के अंदर की राजनीति से लड़ने के लिए पार्टी में निहित स्वार्थों की अनुमति देने से इनकार करती हैं।'

मातोंडकर 27 मार्च 2019 को कांग्रेस में शामिल हुईं। उन्होंने 2019 के लोकसभा चुनाव में मुंबई उत्तर निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ा, लेकिन वो बीजेपी के गोपाल शेट्टी से हार गईं। 10 सितंबर 2019 को उन्होंने पार्टी से इस्तीफा दे दिया। उर्मिला ने अपने 16 मई के पत्र में अपनी हार के लिए स्थानीय कांग्रेस कार्यकर्ताओं और संगठन के लोगों को जिम्मेदार ठहराया था। उर्मिला ने कहा था कि उन्होंने जीत के लिए बहुत मेहनत की थी, लेकिन कांग्रेस संगठन, विशेषकर प्रमुख नेताओं से उन्हें अपेक्षाकृत सहयोग नहीं मिला।

कांग्रेस से इस्तीफे के बाद उर्मिला ने कहा था, 'मैं अपने सभी विचारों और विचारधारा के साथ खड़ी हूं और ईमानदारी और सम्मान के साथ अपनी क्षमता के अनुसार लोगों के लिए काम करना जारी रखूंगी। मैं उन सभी लोगों को धन्यवाद देती हूं जिन्होंने मेरी यात्रा में मेरी मदद की और मेरा समर्थन किया। मैं मीडिया को ईमानदारी से धन्यवाद देना चाहती हूं।'

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...