शख्स ने पंचायत चुनाव के लिए तोड़ा आजीवन बह्मचर्य रहने का संकल्प, शादी कर दुल्हन को बनाया उम्मीदवार

देश
किशोर जोशी
Updated Apr 01, 2021 | 19:24 IST

चुनाव इंसान से क्या नहीं करवाता है? इसका एक प्रत्यक्ष उदाहरण देखने को मिला है उत्तर प्रदेश के बलिया में, जहां एक शख्स ने अपना आजीवन ब्रह्मचर्य रहने का संकल्प तोड़ दिया है।

UP Panchayat Election 2021 Candidate broke Brahmacharya pledge and got married for Chunav in Ballia
UP: शख्स ने चुनाव के लिए तोड़ा आजीवन बह्मचर्य रहने का संकल्प 

मुख्य बातें

  • यूपी में इन दिनों पंचायत चुनाव के लिए प्रचार अभियान है जोरों पर
  • कई सीटें आरक्षित होने से संभावित उम्मीदवारों को लगा है झटका
  • यूपी के बलिया से सामने आना अनूठा मामला, शख्स ने चुनाव के लिए तोड़ डाला ब्रह्मचर्य रहने का संकल्प

बलिया: उत्तर प्रदेश में इन दिनों पंचायत चुनाव के लिए प्रचार अभियान जोरों पर है और उम्मीदवार किसी भी तरह चुनाव जीतने के लिए हरसंभव प्रयास में जुटे हुए हैं। कई सीटें आरक्षित होने की वजह से संभावित उम्मीदवारों के अरमानों पर पानी भी फिरा है लेकिन कुछ उम्मीदवार ऐसे भी हैं, जो चुनाव लड़ने के लिए तरह-तरह के जुगाड़ निकाल रहे हैं। ऐसा ही एक मामला सामने आया है यूपी के बलिया में जिसकी चर्चा हर तरफ हो रही है।

तोड़ा ब्रह्मचर्य रहने का संकल्प
बलिया में रहने वाले शख्स ने पंचायत चुनाव लड़ने के लिए आजीवन ब्रह्मचर्य का पालन करने का व्रत तोड़ दिया शादी रचा ली है। मामाला मुरली छपरा ब्लॉक के शिवपुर करना छपरा गांव का है जहां आजीवन अविवाहित रहने का संकल्प रखने वाले शख्स हाथी सिंह ने ग्राम प्रधान का चुनाव लड़ने के लिए शादी रचा ली है। शख्स ने शादी के लिए किसी मुहूर्त का इंतजार भी नहीं किया और शादी कर डाली। शादी के बाद अब हाथी सिंह की पत्नी चुनावी मैदान में है।

आरक्षित हो गई थी सीट
दरअसल हाथी सिंह ने यूं ही अचानक से ब्रह्मचर्य का व्रत नहीं तोड़ा, इसके पीछे थी चुनाव की असल वजह। गांव की प्रधान सीट आरक्षित हो गई थी जिसके बाद युवक ने आनन-फानन में यह कदम उठाया और पंचायत चुनाव के लिए शादी कर अपनी पत्नी को उम्मीदवार बना दिया। हाथी सिंह इस इलाके में लंबे समय से सामाजिक कार्यों में बढ़चढ़कर भागीदारी कर रहे हैं और समाजसेवा के चलते उन्होंने विवाह नहीं करने का संकल्प लिया था।

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव जिलेवार चार चरणों में 15 से 29 अप्रैल के बीच होने हैं, जिसमें लाखों सरकारी कर्मचारियों की ड्यूटी चुनाव कराने के लिए लगनी है। पहले चरण में 18 जिलों के सभी पदों के लिए 15 अप्रैल को मतदान होगा। दूसरे चरण में 20 जिलों में 19 अप्रैल को, तीसरे में भी 20 जिलों में 26 अप्रैल को और चौथे व अंतिम चरण में 17 जिलों के सभी पदों के लिए 29 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर