'गालीबाज' श्रीकांत गिरफ्तारः मेरठ में 3 गुर्गों के साथ धराया, फिर भी भगोड़े के बचाव में त्यागी समाज, बुलाई पंचायत

देश
अभिषेक गुप्ता
अभिषेक गुप्ता | Principal Correspondent
Updated Aug 09, 2022 | 12:22 IST

Shrikant Tyagi ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से जुड़े होने का दावा किया था, जबकि पार्टी ने उसके साथ किसी भी तरह के संबंध से इनकार किया था। शुक्रवार रात से वह फरार था।

shrikant tyagi arrest, shrikant tyagi, shrikant tyagi news
श्रीकांत त्यागी का यह फोटो टि्वटर पर खूब वायरल हुआ है। (पुरानी तस्वीरः @PragyaLive)  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • त्यागी की ओर से सोसायटी में पेड़ लगाने पर चालू हुआ था विवाद
  • भड़क कर पीड़िता को देने लगा था गंदी-गंदी गालियां और धक्का
  • घटना से जुड़े वीडियो वायरल होने के बाद श्रीकांत पर बना दबाव

Shrikant Tyagi Case: उत्तर प्रदेश के नोएडा की ग्रैंड ओमैक्स सोसाइटी में महिला के साथ बदतमीजी करने वाले श्रीकांत त्यागी को मंगलवार (नौ अगस्त, 2022) को गिरफ्तार कर लिया गया। समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, पुलिस ने उसे मेरठ से धर दबोचा। उसके साथ इस दौरान तीन गुर्गे भी पकड़े गए। 25 हजार रुपए का ईनामी त्यागी पांच दिनों से फरार था, जबकि उसके खिलाफ अलग-अलग थानों में लगभग 10 केस दर्ज किए जा चुके हैं। 

'गालीबाज' के समर्थन में त्यागी समाज, की पंचायत
हैरत की बात है कि त्यागी की ओर से महिला के साथ गाली-गलौज और धक्का-मुक्की किए जाने के बाद भी त्यागी समुदाय के सदस्यों ने उसके समर्थन में एक पंचायत की। यह पंचायत गाजियाबाद के एक रेसिडेंशियल कॉम्पलेक्स के बाहर की गई थी। सदस्यों की ओर से जिला पुलिस को एक ज्ञापन भी सौंपा गया था। इस बीच, पता चला है कि फॉर्च्यूनर गाड़ी का मालिक श्रीकांत ही है, पर उस पर नंबर प्लेट नहीं थी। त्यागी ने उसे याकूबपुर के आसपास कहीं हटा कर फेंक दिया था।

‘गुंडागर्दी' पर BJP वाले मौन क्यों?- कांग्रेस
कांग्रेस ने सोमवार को त्यागी के मसले पर बीजेपी को घेरा। सवाल किया कि इस मामले पर भाजपा के नेता और खासतौर पर महिला नेता मौन क्यों हैं? पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने त्यागी की भाजपा के कई नेताओं के साथ ली गई तस्वीरें साझा करते हुए कहा था कि इस मामले में बुलडोजर की कार्रवाई दिखावा है। 

प्रियंका ने कहा- बुलडोजर की कार्रवाई दिखावा 
कांग्रेस में यूपी प्रभारी प्रियंका ने ट्वीट किया, ‘‘क्या इतने वर्षों से भाजपा सरकार को नहीं पता था कि नोएडा के भाजपा नेता का निर्माण अवैध है? बुलडोजर की कार्रवाई दिखावा है।’’ उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘सरकार इन सवालों के जवाब देने से बच रही है। एक महिला के साथ खुलेआम अभद्रता और 10-15 गुंडे भेजकर महिलाओं को धमकाने की हिम्मत उसे कौन दे रहा है? कौन है, जो उसे बचाता आ रहा है?’’ 

क्या है पूरा मामला? समझें
दरअसल, पीड़िता ने सोसायटी में नियमों के उल्लंघन का हवाला देते हुए त्यागी की ओर से लगाए गए कुछ पेड़ों पर आपत्ति जताई थी। श्रीकांत इसी बात पर भड़क गया था और महिला के साथ कथित तौर पर अभ्रद व्यवहार करने लगा था। घटना के बाद कुछ वीडियो भी वायरल हुए थे, जिनमें वह उन्हें धक्का देते और गालियां देते दिखा था। मामला प्रकाश में आने के बाद वह फरार हो गया था। बाद में नोएडा अथॉरिटी ने सोसायटी में उसके ग्राउंड फ्लोर के फ्लैट के बाहर अवैध निर्माण भी बुलडोजर से ढहाया था।

त्यागी के खिलाफ पहले से दर्ज हैं कई केस
वैसे आरोपी त्यागी के खिलाफ पहले से ही हत्या के प्रयास सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामले दर्ज हैं। वह खनन के कारोबार में भी संलिप्त है। उसके भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का करीबी होने की बात भी कही जा रही है। करीब 10 साल पहले पाकिस्तान के नंबर से मिली धमकी के बाद वह चर्चा में आया था। इस संबंध में शिकायत करने के बाद उसे पुलिस सुरक्षा दी गई थी, जिसको लेकर भी विवाद है कि आखिर उसे सुरक्षा किस आधार पर दी गई थी। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर