UP Loan Mela: यूपी की योगी सरकार 14 मई से लगा रही है 'लोन मेला', बांटा जाएगा 2000 करोड़ रुपए का कर्ज

देश
रवि वैश्य
Updated May 13, 2020 | 21:27 IST

Loan Mela in UP (Uttar Pradesh):उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घोषणा की है कि 14 मई से MSME क्षेत्र के लिए एक ऑनलाइन ऋण मेला शुरू होने जा रहा है।

Yogi Adityanath
उत्तर प्रदेश देश में सर्वाधिक MSME इकाइयों वाला राज्य है 

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी के 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की घोषणा के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आर्थिक पैकेज (Economic package) का ऐलान किया। वित्त मंत्री ने कहा कि देश के सामने पीएम ने विजन रखा। वित्त मंत्री ने कहा कि एमएसएमई के लिए 6 बड़े कदम उठाए गए, इससे 45 लाख एमएसएमई को फायदा होगा, तीन लाख करोड़ बिना गारंटी के लोन मिलेगा।

सरकार की इस घोषणा का राज्यों ने स्वागत किया है, उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने 20 लाख करोड़ रुपए का पैकेज जारी किए जाने पर केंद्र सरकार को बधाई देते हुए बुधवार को कहा कि इससे प्रदेश के एमएसएमई क्षेत्र के लगभग तीन करोड़ लोग भी लाभान्वित होंगे।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने उत्तर प्रदेश (UP) में एमएसएमई क्षेत्र (MSME) को ध्यान में रखते हुए अपनी राज्य स्तरीय बैंकर्स कमेटी की बैठक पहले ही कर ली है और हम लोग बृहस्पतिवार से लोन मेला शुरू करने जा रहे हैं।

योगी ने कहा कि प्रदेश में 14 मई यानि बृहस्पतिवार को एक साथ 36000 से अधिक एमएसएमई उद्यमियों के लिए ऋण मेले की ऑनलाइन व्यवस्था शुरू की गई है। 14 मई को 36000 उद्यमियों को एक साथ 1600 से 2000 करोड़ रुपए का कर्ज बांटा जाएगा।

UP सबसे ज्यादा MSME इकाइयों वाला स्टेट
उत्तर प्रदेश देश में सर्वाधिक एमएसएमई इकाइयों वाला राज्य है। प्रदेश में लगभग तीन करोड़ लोग एमएसएमई क्षेत्र से प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े हुए हैं। केंद्र सरकार की इस घोषणा से इन लोगों को भी ताकत मिलेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने एक जिला एक उत्पाद की अभिनव योजना के जरिए एमएसएमई क्षेत्र में नयी जान फूंकने की कोशिश की थी लेकिन कोरोना संकट के कारण इसमें रुकावट आई।

उन्होंने कहा कि एमएसएमई क्षेत्र के लिए तीन लाख करोड़ रुपए के कर्ज़ की घोषणा, इस सेक्टर में काम करने वाले लोगों को अलग से मदद करने के साथ ही इस सेक्टर के कर्मियों की ईपीएफ की समस्या का समाधान करने के लिए भी जो महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं, वे अभिनंदनीय हैं।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर