Insult to National Flag: 'तिरंगे पर महबूबा का बयान आपत्तिजनक, सेक्युलर लॉबी वाले कहां गए'

देश
ललित राय
Updated Oct 24, 2020 | 19:20 IST

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि महबूबा मुफ्ती के रुख पर आखिर धर्मनिरपेक्ष लॉबी क्यों चुप है। बता दें कि पीपल्स अलाएंस ने जम्मू-कश्मीर के झंडे को अपने सिंबल के तौर पर चुना है।

Insult to tricolour:तिरंगे पर महबूबा का बयान आपत्तिजनक, सेक्युलर लॉबी वाले कहां गए
रविशंकर प्रसाद, कानून मंत्री 

मुख्य बातें

  • रविशंकर प्रसाद ने महबूबा के साथ साथ तथाकथित धर्मनिरपेक्ष दलों पर साधा निशाना
  • महबूबा ने तिरंगे का किया अपमान, कहां गए संविधान की दुहाई देने वाले दल
  • महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि 370 की बहाली तक तिरंगा नहीं उठाएंगी।

नई दिल्ली। श्रीनगर में शनिवार को गुपकार से जुड़े नेता एक बार फिर जुटे और अनुच्छेद 370 की बहाली पर चर्चा की। इसके साथ ही पीपल्स अलाएंस के अध्यक्ष के तौर पर फारुक अब्दुल्ला तो महबूबा मुफ्ती उपाध्यक्ष चुनी गईं। महबूबा मुफ्ती के आवास पर करीब 1 घंटे की मीटिंग चली और उसके बाद फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि वो लोग बीजेपी का विरोध करते हैं और इसका यह अर्थ नहीं है कि वो एंटी नेशनल हैं। वो मानते हैं कि जिस तरह से अनुच्छेद 370 को हटाया गया वो संविधान के खिलाफ था। इस विषय पर कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने अपने अंदाज में प्रतिक्रिया दी। 

रविशंकर प्रसाद ने धर्मनिरपेक्ष दलों पर साधा निशाना
रविशंकर प्रसाद ने कहा कि महबूबा मुफ्ती ने राष्ट्रीय ध्वज का अपमान कैसे किया, इससे ज्यादा आपत्तिजनक कुछ नहीं हो सकता। J & K भारत का अविभाज्य अंग है। कला। 370 निरस्तीकरण संवैधानिक प्रक्रिया थी। हम उसकी टिप्पणी की निंदा करते हैं, लेकिन इस राष्ट्र-विरोधी टिप्पणी पर तथाकथित धर्मनिरपेक्ष लॉबी चुप क्यों है ?


पीडीपी के सच को समझती है जनता
रविशंकर प्रसाद ने इसके साथ यह भी कहा कि फारुक अब्दुल्ला या महबूबा मुफ्ती के बयान से आश्चर्य नहीं कर सकते। दरअसल ये दोनों नेता मौकापरस्ती की बात करते रहे हैं। महबूबा को भारत राग तब अच्छा लगता है जब वो सत्ता में होती हैं। लेकिन सत्ता से बेदखल होने के बाद संविधान खतरे में नजर आता है, जम्मू-कश्मीर की अवाम के साथ केंद्र सरकार नाइंसाफी करने लगती है। लेकिन सच यह है कि जनता इन नेताओं के सच को समझ चुकी है। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर