Udaipur: कन्हैयालाल की हत्या के बाद का सीसीटीवी आया सामने, आसपास से भागते हुए नजर आए लोग

Udaipur: कन्हैयालाल की हत्या के बाद का सीसीटीवी फुटेज सामने आया है। इस फुटेज में साफ दिख रहा है कि कन्हैयालाल की हत्या के बाजार में किस तरह से अफरा तफरी मच गई थी।

Udaipur Murder case After the murder of Kanhaiya Lal New CCTV camera footage goes viral
Udaipur: कन्हैयालाल की हत्या के बाद का सीसीटीवी आया सामने, आसपास से भागते हुए नजर आए लोग 
मुख्य बातें
  • कन्हैयालाल की उदयपुर में कर दी गई थी बर्बर तरीके से हत्या
  • कन्हैयालाल की मौत के बाद बाजार का सीसीटीवी फुटेज आया सामने
  • सीसीटीवी में दिख रहा है कि लोग किस तरह से खौफ में हैं

उदयपुर के कन्हैयालाल हत्याकांड में सबसे बड़ी खबर सामने आ रही है। कन्हैया की हत्या के बाद का एक सीसीटीवी फुटेज सामने आया है। इस फुटेज में दिख रहा है कि हत्या के बाद कैसे आसपास के दुकानों में भगदड़ सी मच गई थी और अपराधी गौस और रियाज 2611 नंबर की बाइक में सवार होकर भागते हुए नजर आए। वीडियो में दिख रहा है कि बाजार में लोग दुकानों के अंदर सामान को समेट रहे हैं और बंद करके जाने लगे। लोगों में दहशत का माहौल था।

हो रहे हैं कई खुलासे

इस मामले की जांच जैसे जैसे आगे बढ़ रही है ये साबित हो रहा है कि भारत में धर्म के नाम पर आतंक फैलाने की पूरी साजिश पाकिस्तान से रची गई थी। जांच एजेंसियों को पाकिस्तान के दावत-ए-इस्लामी के स्लीपर सेल मॉड्यूल के  35 सदस्यों की तलाश है। बताया जा रहा है कि ये स्लीपर सेल उदयपुर में भी एक्टिव था।  इतना ही नहीं पाकिस्तानी हैंडलर सलमान हैदर और अबू इब्राहिम ने रियाज को पाकिस्तान भी बुलाया था। जांच एजेंसियों की माने तो गौस और रियाज पाक हैंडलर्स सलमान हैदर, अबू इब्राहिम के संपर्क में थे । सलमान हैदर ने रियास को कट्टरपंथ की ट्रेनिंग दी जबकि अबू इब्राहिम आतंकी गतविधियों में शामिल रहा है। जांच में ये भी पता चला है कि दोनों हत्यारे तालिबानी वीडियो देखते थे और इसी अंदाज में हत्या भी की थी।

बनाए थे कई ग्रुप

उदयपुर में कन्हैयालाल हत्याकांड में पकड़े गए रियाज और गौस को लेकर एक और बड़ा खुलासा सामने आया है। हत्याकांड की जांच में जुटी एजेंसियों को दो नफरती व्हाट्स ग्रुप के बारे में पता चला है। इस ग्रुप का नाम है लब्बेक और रसूल अल्लाह, जांच में पता चला है कि व्हॉट्सऐप ग्रुप पर नफरती मैसेज डाले जाते थे, ये सभी मैसेज उर्दू में लिखे होते थे, अब जांच एजेंसियां उन नंबरों को खंगाल रही है जो इस ग्रुप में जुड़े हुए थे।जांच में ये भी पता चला है कि हत्या वाले दिन वीडियो वायरल करने के लिए रियाज ने अपने ग्रुप में कई नंबरों को जोड़ा था। 

लगातार बदले ठिकाने

जांच एजेंसियों को शक है कि इस ग्रुप में देश विरोधी गतिविधियों को बढ़ावा दिया जाता था।। पाकिस्तान से लौटने के बाद रियाज कई बार अपने ठिकाने बदल चुका था उदयपुर में 20 सालों में रियाज ने कई मकान  बदले। इस बीच कन्हैया लाल मर्डर केस को लेकर SIT भी एक्शन में है। SIT ने मर्डर केस में मोहसिन और आसिफ नाम के दो और लोगों को गिरफ्तार किया है वहीं 3 लोगों को हिरासत में लिया गया है..जिनसे हत्याकांड और रियाज-गौस को लेकर पूछताछ जारी है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर