Twin Towers Demolition: ब्लास्ट को लेकर सुरक्षा के कड़े इंतेजाम, 560 पुलिसकर्मी, रिजर्व फोर्स, 4 क्विक रिस्पांस टीम और एनडीआरएफ तैनात

Twin Towers Demolition: सुपरटेक के ढहाए जाने वाले ट्विन टावर के पास स्थित दो सोसाइटी में रह रहे कम से कम 5,000 लोगों को निकालने का काम पूरा कर लिया गया है। अधिकारियों ने बताया कि एमराल्ड कोर्ट और एटीएस विलेज सोसाइटी से निवासियों को निकालने का काम सुबह सात बजे तक पूरा किया जाना था, लेकिन इसमें थोड़ा वक्त लगा।

Twin Towers Demolition Tight security arrangements regarding blast 560 policemen reserve force 4 quick response teams and NDRF deployed
सेंट्रल नोएडा के डीसीपी राजेश एस।  |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • आज दोपहर 2.30 बजे ढहाया जाएगा ट्विन टावर
  • ब्लास्ट को लेकर सुरक्षा के कड़े इंतेजाम
  • 560 पुलिसकर्मी, रिजर्व फोर्स, 4 क्विक रिस्पांस टीम और एनडीआरएफ तैनात

Twin Towers Demolition: नोएडा में सुपरटेक के ट्विन टावर को आज दोपहर 2.30 बजे सुरक्षित तरीके से ढहाने के संबंध में सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। वहीं सेंट्रल नोएडा के डीसीपी राजेश एस ने बताया कि लगभग 560 पुलिस कर्मी, रिजर्व फोर्स के 100 लोग, 4 क्विक रिस्पांस टीम और एनडीआरएफ की टीम तैनात है। ट्रैफिक डायवर्जन प्वाइंट एक्टिव हैं। विस्फोट से ठीक पहले दोपहर करीब 2.15 बजे एक्सप्रेस-वे को बंद किया जाएगा। ब्लास्ट के आधे घंटे बाद और धूल जमने के बाद इसे खोल दिया जाएगा। इंस्टेंट कमांड सेंटर में 7 सीसीटीवी कैमरे हैं। 

560 पुलिसकर्मी, रिजर्व फोर्स, 4 क्विक रिस्पांस टीम और एनडीआरएफ तैनात

ट्विन टावर के पास की दो सोसाइटी से सभी लोगों को निकाला गया

वहीं सुपरटेक के ढहाए जाने वाले ट्विन टावर के पास स्थित दो सोसाइटी में रह रहे कम से कम 5,000 लोगों को निकालने का काम पूरा कर लिया गया है। अधिकारियों ने बताया कि एमराल्ड कोर्ट और एटीएस विलेज सोसाइटी से निवासियों को निकालने का काम सुबह सात बजे तक पूरा किया जाना था, लेकिन इसमें थोड़ा वक्त लगा। निकासी कार्य पर नजर रख रहे एक अधिकारी ने बताया कि ध्वस्तीकरण अपराह्न ढाई बजे होना है, जिसे देखते हुए सेक्टर 93ए की दो सोसाइटी में रसोई गैस और बिजली की आपूर्ति बंद कर दी गई है।

Twin Towers Demolition: खौफ में हैं आसपास रहने वाले लोग, वहीं कुछ के लिए पिकनिक स्पॉट बना सेक्टर 93A

अधिकारी के मुताबिक, निवासियों के अलावा उनके वाहनों और पालतू जानवरों को भी हटा दिया गया है। उन्होंने बताया कि निजी सुरक्षाकर्मी और रेजिडेंट ग्रुप के कुछ प्रतिनिधि दोपहर करीब एक बजे तक सोसाइटी में रहेंगे और इसके बाद दोनों सोसाइटी पूरी तरह से खाली हो जाएंगी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुपालन में इन टावर को गिराया जा रहा है, जिसके लिए 3,700 किलोग्राम से अधिक विस्फोटकों का उपयोग किया जाएगा। अदालत ने एमराल्ड कोर्ट सोसायटी परिसर के भीतर इन टावर के निर्माण में मानदंडों का उल्लंघन पाया था। 

ट्विन टावर्स के डेमोलिशन से वायु प्रदूषण की आशंका, हेल्थ समस्याओं से निपटने के लिए हाई अलर्ट पर आस-पास के अस्पताल

ट्विन टावर से एमराल्ड कोर्ट सोसाइटी की एस्टर 2 और एस्टर 3 इमारत सिर्फ नौ मीटर दूर हैं। अधिकारियों ने कहा कि विध्वंस इस तरह से किया जाएगा ताकि अन्य इमारतों को कोई संरचनात्मक नुकसान न हो। नोएडा प्राधिकरण के अनुसार विस्फोट के वक्त घटनास्थल के ऊपर एक समुद्री मील के दायरे में हवाई क्षेत्र भी कुछ समय के लिए उड़ानों के वास्ते बंद रहेगा। प्राधिकरण ने विशेष रूप से सेक्टर 93, 93ए, 93बी, 92 में पास की सोसाइटी पार्श्वनाथ प्रेस्टीज, पार्श्वनाथ सृष्टि, गेझा गांव के और अन्य निवासियों को दोपहर ढाई बजे के बाद मास्क पहनने के लिए कहा है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर