One Stop Centres: सरकार की बड़ी पहल, भारतीय महिलाओं के लिए 9 देशों में खुलेंगे 'वन स्टॉप केंद्र'  

एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है, 'विदेशों में काम करने वाली भारतीय महिलाओं को इन केंद्रों से मदद मिलेगी। कई बार भारतीय महिलाएं इन देशों में हिंसा का शिकार हो जाती हैं।'

 To help women hit by violence, Centre plans one-stop centres in 9 countries
भारतीय महिलाओं के लिए 9 देशों में खुलेंगे 'वन स्टॉप केंद्र'।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • विदेशों में काम करने वाली महिलाओं को इन केंद्रों से मिलेगी मदद
  • फिलहाल अभी नौ देशों में 'वन स्टॉप सेंटर' खोलने जा रही सरकार
  • आने वाले दिनों में अन्य देशों में इस तरह के केंद्र खोलने की तैयारी

नई दिल्ली : विदेशों में काम करने वाली भारतीय महिलाओं को मदद पहुंचाने के लिए भारत सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। सरकार आने वाले दिनों में कामकाजी महिलाओं के लिए नौ देशों में 'वन स्टॉप सेंटर' खोलने जा रही है। महिला एवं बाल विकास (डब्ल्यूसीडी) के सचिव राम मोहन मिश्रा ने मंगलवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि ये केंद्र बहरीन, ओमान, यूएई, कतर, कुवैत, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा और सिंगापुर में खोले जाएंगे। सचिव ने कहा कि सऊदी अरब में दो केंद्र बनाए जाएंगे। 

हिंसा से पीड़ित महिलाओं को मिलेगी मदद
मिश्रा ने कहा, 'इन केंद्रों को खोलने का उद्देश्य इन देशों में काम करने वाली भारतीय महिलाओं को मदद पहुंचाना है। ये केंद्र इन देशों में महिलाओं के साथ हिंसा होने पर उनकी मदद करेंगे।' सूत्रों का कहना है कि अभी शुरुआत में इन केंद्रों को नौ देशों में खोला जा रहा है  लेकिन आगे इन्हें अन्य देशों में भी शुरू किया जाएगा। 

केंद्रो को विदेश मंत्रालय करेगा संचालित 
महिलाओं के लिए देश में भी 'वन स्टॉप सेंटर' चल रहे हैं। जिलों में लागू इस व्यवस्था की गाइडलाइन में कहा गया है कि हिंसा एवं संकट का सामना करने वाली महिलाओं को चिकित्सा सुविधा, कानूनी सहायता, कानूनी सलाह, मनोवैज्ञानिक काउंसलिंग एवं अस्थायी शरण सहित बहुत सारी सुविधाएं एक जगह मिलती हैं। रिपोर्टों में वरिष्ठ अधिकारियों के हवाले से कहा गया है कि भारतीय प्रवासियों की संख्या को देखते हुए विदेश मंत्रालय की तरफ से इन देशों की पहचान की गई है। विदेश मंत्रालय इन केंद्रों को संचालित करेगा और इसका वित्त पोषण डब्ल्यूसीडी मंत्रालय करेगा। 

देश में हैं ऐसे 700 केंद्र 
एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है, 'विदेशों में काम करने वाली भारतीय महिलाओं को इन केंद्रों से मदद मिलेगी। कई बार भारतीय महिलाएं इन देशों में हिंसा का शिकार हो जाती हैं या किसी विचित्र स्थिति में फंस जाती हैं। ऐसी स्थिति में वे इन केंद्रों पर मदद के लिए पहुंच सकती हैं।' देश में करीब 700 'वन स्टॉप सेंटर' काम कर रहे हैं। डब्ल्यूसीडी मंत्रालय इस साल देश ममें अतिरिक्त 300 केंद्र खोलने की तैयारी में है।
 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर