क्वारंटीन सेंटर/जेल में गर्भवती हुईं थीं तब्लीगी जमात की 3 महिलाएं? मामले में हुआ बड़ा खुलासा

झारखंड के रांची स्थित क्वारंटीन सेंटर में गर्भवती हुई 3 तब्लीगी जमात की तीन महिलाओं के मामले में अभी तक प्रशासन की तरफ से किसी पर भी कार्रवाई नहीं की गई है।

क्वारंटीन सेंटर में हुईं थी गर्भवती, मामले में नया खुलासा
Three Tablighi Jamaat women got pregnant in the Quarantine Center in Ranchi new revelations in the case 
मुख्य बातें
  • कुछ दिन पहले झारखंड के रांची में आया था एक अजब मामला सामने
  • तब्लीगी जमात से जुड़ी तीन महिलाएं जेल और क्वारंटीन सेंटर में रहने के दौरान हो गईं थी गर्भवती
  •  ताजा मेडिकल रिपोर्ट में पता चला है कि महिलाएं क्वारंटीन सेंटर में ही हुईं गर्भवती

रांची: कुछ दिन पहले झारखंड के रांची से एक ऐसी खबर आई जिसने खूब सुर्खियां बटोरी थी। दरअसल तब्लीगी जमात से जुड़ी तीन महिलाएं क्वारंटीन सेंटर और जेल में रहने के दौरान गर्भवती हो गईं थी जिससे प्रशासन के होश उड़ गए।  पुलिस और प्रशासन से लेकर स्वास्थ्य विभाग तक में इस घटना के बाद हड़कंप मच गया था। सबके सामने एक ही सवाल था कि आखिर इतनी कड़ी निगरानी में रहने के बावजदू भी ये महिलाएं कैसे गर्भवती हो गईं? ये सभी महिलाएं तब्लीगी जमात से जुड़ी हैं और साथ में विदेश से ताल्लुक रखती हैं।

17 पुरुष भी थे शामिल
दैनिक जागरण की खबर के अनुसार, ये महिलाएं पहले क्वारंटीन सेंटर में रहीं जिसके बाद इन्हें बिरसा मुंडा जेल में रखा गया। इस दौरान लगभग 4 महीने का समय बिताने वाली इन महिलाओं के गर्भवती होने की खबर सुनकर हर कोई हैरान रह गया। इन सभी को रांची के हिंद पीढ़ी इलाके में स्थित बड़ी मस्जिद से पकड़ा गया था जिनमें 17 विदेशी मौलवी भी शामिल थे।

जेल में नहीं क्वारंटीन सेंटर में हुआ नियमों का उल्लंघन
अब इस मामले में एक नया खुलासा हुआ है जिससे पता चला है कि ये महिलाएं जेल में नहीं बल्कि रांची के क्वारंटीन सेंटर में ही गर्भवती हुईं। जिस क्वारंटीन सेंटर में सोशल डिस्टेंसिंग के तमाम नियमों का खयाल रखा जाता है वहां महिलाएं गर्भवती हो गईं जिसके बाद से ही प्रशासन पर सवाल खड़े हो रहे थे। हालांकि अभी तक इस मामले को लेकर प्रशासन के किसी भी कर्मचारी पर कार्रवाई नहीं हुई है।

जमानत मिलने के बाद हुईं रिहा
फिलहाल तीनों महिलाएं तीन से चार महीने की गर्भवती हैं जिनकी मेडिकल देखभाल भी की जा रही है। वहीं अभी तक इस मामले में हुई लापरवाही को लेकर प्रशासन की तरफ से कोई जिम्मेदारी तय नहीं की गई है और ना ही किसी पर कार्रवाई की गई है। आपको बता दें कि 30 मार्च को इन महिलाओं को हिरासत में ले लिया गया था और इसके पचास दिन बाद यानि 20 मई को इन्हें बिरसा मुंडा जेल में भेज दिया गया था। 21 जुलाई को जब महिलाओं को हाईकोर्ट से जमानत मिलने के बाद रिहा किया गया तो तब उनके गर्भवती होने का खुलासा हुआ।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर