कांग्रेस चिंतन शिविर का आज आखिरी दिन, कई प्रस्तावों पर लगेगी मुहर, हो सकते हैं चौंकाने वाले फैसले

Congress Chintan Shivir: आज उदयपुर में चल रहे कांग्रेस के चिंतन शिविर का आखिरी दिन है। आज कई अहम मुद्दों पर मुहर लग सकती है, इसके अलावा पार्टी कुछ चौंकाने वाले फैसले ले सकती है।

Congress Chintan Shivir
कांग्रेस कार्य समिति 

राजस्थान के उदयपुर में चल रहा कांग्रेस का तीन दिवसीय चिंतन शिविर आज समाप्त हो रहा है। कांग्रेस कार्य समिति (CWC) 2024 के लोकसभा चुनावों के लिए पार्टी के रोडमैप के साथ एक घोषणा तैयार करने के लिए छह समितियों द्वारा दी गई सिफारिशों पर विचार करेगी। नौ साल के अंतराल के बाद आयोजित चिंतन शिविर में लगभग 430 नेताओं ने भाग लिया और एक 'छह मसौदा प्रस्ताव' तैयार किया, जिसे चर्चा के लिए गठित छह समितियों के लिए नियुक्त छह संयोजकों द्वारा कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को प्रस्तुत किया गया है। राजनीति से लेकर संगठन, किसान-कृषि, युवा-संबंधी मुद्दों, सामाजिक न्याय और कल्याण और अर्थव्यवस्था तक विभिन्न विषयों पर चर्चा के लिए गठित छह समितियों के लिए छह संयोजक नियुक्त किए गए थे।

आज सीडब्ल्यूसी बैठक करेगी और पार्टी के शीर्ष अधिकारियों से अंतिम अनुमोदन के लिए समितियों द्वारा प्रस्तावित मसौदा प्रस्तावों पर चर्चा करेगी। मुख्य मुद्दों में संगठन में युवाओं, एससी-एसटी, ओबीसी और अल्पसंख्यकों के लिए 50 प्रतिशत आरक्षण पर विचार, वन फैमिली वन टिकट फॉर्मूला, पार्टी नेताओं के लिए कूलिंग पीरियड, यूथ कांग्रेस और एनएसयूआई में आंतरिक चुनाव, किसानों को एमएसपी की कानूनी गारंटी और संसदीय दल बोर्ड की स्थापना है। 

सूत्रों के मुताबिक सीडब्ल्यूसी कुछ चौंकाने वाले फैसले ले सकती है, क्योंकि सोनिया गांधी ने साफ तौर पर कहा है कि पार्टी को सुधारों की सख्त जरूरत है और इसके काम करने के तरीके में बदलाव की जरूरत है। उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा है कि पार्टी ने नेताओं को बहुत कुछ दिया है और यह पार्टी को चुकाने का समय है। 

राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की समापन टिप्पणी से पहले चिंतन शिविर को संबोधित करेंगे। यह भी उम्मीद है कि नेता खुले तौर पर इस बात की वकालत करेंगे कि राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष का पद लेना चाहिए और इस साल सितंबर में होने वाले पार्टी के पद के लिए चुनाव लड़ना चाहिए।

कांग्रेस चिंतन शिविर दिशाहीन हो रहा है, बिना पोस्टमॉटम के भविष्य रोडमैप पर कैसे बनेगी रणनीति? 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर