दिल्ली में नवंबर में ही सर्दी ने दिखाए दिसंबर जैसे तेवर, टूटा 14 साल का रिकॉर्ड 

देश
रवि वैश्य
Updated Nov 21, 2020 | 08:55 IST

Delhi cold News: दिल्ली में शुक्रवार की सुबह न्यूनतम तापमान 7.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो पिछले 14 साल में नवंबर महीने में सबसे कम है।

The coldest morning of November in the last 14 years in Delhi
दिन और रात के वक्त खासी सर्दी पड़ रही है जो आमतौर पर इस महीने में नहीं होती है 

दिल्ली की सर्दी का अपना ही मिजाज होता है अमूमन दिसंबर में ही कड़ाके सर्दी पड़ती है लेकिन इस बार तो दिल्ली में सर्दी के तेवर नवंबर से ही सख्त हैं और इस महीने में ही कड़ाके की सर्दी का आगाज हो गया है। दिन और रात के वक्त खासी सर्दी पड़ रही है जो आमतौर पर इस महीने में नहीं होती है। दिल्ली वाले मौसम की इस मार से थोड़ा जल्दी ही दो चार हो रहे हैं, मौसम में लगातार ठंड का अहसास बढ़ता जा रहा है।

मौसम विभाग के मुताबिक 29 नवंबर 2006 के बाद यह पहला मौका है जब दिल्ली का तापमान नवंबर में इतना कम हुआ है। 29 नवंबर 2006 को यहां का न्यूनतम तापमान 7.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।मौसम विभाग ने कहा है कि दिल्ली में इस मौसम में पहली बार शीत लहर के आसार हैं।

आम तौर पर मैदानों में लगातार दो दिन जब तापमान 10 डिग्री सेल्सियस या इससे कम रहे और सामान्य से 4.5 डिग्री सेल्सियस कम होता है तब मौसम विभाग शीतलहर की घोषणा करता है।मौसम विभाग के अनुसार, 'यह मानदंड शुक्रवार को पूरा हो गया। अगर शनिवार को भी स्थिति ऐसी ही रहती है तो हम शनिवार को शीत लहर की घोषणा करेंगे। 'दिल्ली में पिछले साल नवंबर में न्यूनतम तापमान 11.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। इसी तरह 2018 में 10.5 डिग्री सेल्सियस और 2017 में 7.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। आंकड़ों के अनुसार अब तक नवंबर में सबसे कम न्यूनतम तापमान 3.9 डिग्री सेल्सियस 28 नवंबर 1938 को दर्ज किया गया था।

दिसंबर और जनवरी में शीतलहर देखने को मिलती है, इस बार स्थिति उलट

इस बार नवंबर में ही शीतलहर जैसी स्थिति बन रही है। मौसम विभाग के मुताबिक इस बार सितंबर के बाद से ही आसमान साफ रहा है। इसके चलते दिन भर पैदा होने वाली गर्मी वातावरण से बाहर चली जाती है और रातें ठंडी हो जाती हैं। जबकि, पिछले दिनों आए पश्चिमी विक्षोभ के बाद उच्च हिमालयी क्षेत्रों में अच्छी बर्फबारी हुई है। इस समय हवा उधर की दिशा से ही आ रही है, जिससे ठंड में और इजाफा हुआ है अनुमान जताया जा रहा है कि दिल्ली के अलग-अलग हिस्सों में शीतलहर जैसी स्थिति हो सकती है।मौसम पूर्वानुमान बताने वाली निजी एजेंसी 'स्काईमेट वेदर' के एक विशेषज्ञ महेश पालावत ने कहा कि पश्चिमी हिमालय क्षेत्र की ओर से बर्फीली हवाओं के आने के कारण तापमान में गिरावट आयी और शनिवार तक ऐसी स्थिति बनी रहेगी।

हरियाणा, पंजाब में अधिकतम और न्यूनतम तापमान सामान्य से नीचे दर्ज 

मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में शीतलहर जारी है तथा केलांग और काल्पा जैसे पर्यटन स्थलों में तापमान शून्य से नीचे चला गया है। शिमला में न्यूनतम तापमान पांच डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार राजस्थान के कई इलाकों में रात के तापमान में कमी आयी है और राज्य के एकमात्र हिल स्टेशन माउंट आबू में तापमान दो डिग्री सेल्सियस तक गिर गया।विभाग के पूर्वानुमान में कहा गया है कि अगले 24 घंटों में रात के तापमान में और गिरावट होने का अनुमान है।हरियाणा और पंजाब में अधिकतम और न्यूनतम तापमान सामान्य से नीचे दर्ज किया गया।


 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर