मणिपुर में असम राइफल्स के काफिले पर हमला, 7 की मौत, आतंकवादियों को पकड़ने का अभियान जारी, आर्मी चीफ को किया ब्रीफ

Manipur Terrorist Attack: मणिपुर के चुराचांदपुर में शनिवार को हुए हमले में भारतीय सेना का एक कर्नल, उनकी पत्नी और आठ साल का बेटा तथा असम राइफल्स के चार जवान शहीद हो गए।

manipur attack
आतंकियों ने घात लगाकर किया हमला 
मुख्य बातें
  • मणिपुर में असम राइफल्स के काफिले पर कायरतापूर्ण हमले से दुखी हूं: गृह मंत्री अमित शाह
  • अपराधी को पकड़ने के लिए अर्धसैनिक बल और पुलिस कमांडो द्वारा उस क्षेत्र में ऑपरेशन चलाया गया: मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह
  • असम राइफल्स के काफिले पर कायराना हमला बेहद दर्दनाक और निंदनीय है। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

Manipur ambush today: मणिपुर में असम राइफल्स के एक दस्ते पर शनिवार को उग्रवादी हमला हुआ। इस हमले में 46, असम राइफल्स के कमांडिंग अफसर सहित पांच जवानों और उनके परिवार के दो सदस्यों की मौत हो गई। यह घटना म्यांमा सीमा से लगे चुराचांदपुर जिले में घटी। अलग होमलैंड की मांग करने वाले मणिपुर के उग्रवादी संगठन 'पीपुल्स रिवोल्यूशनरी पार्टी ऑफ कंगलीपाक' को इस हमले का जिम्मेदार माना जा रहा है। इस हमले में आईईडी विस्फोटकों का इस्तेमाल किया गया।

सरकार के सूत्रों के अनुसार, भारतीय सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे को मणिपुर आतंकवादी हमले के बारे में जानकारी दी गई है। हमले में शामिल आतंकवादियों को पकड़ने के लिए अभियान शुरू कर दिया गया है। हमले में शामिल आतंकवादियों को किसी भी तरह से भागने से रोकने के लिए म्यांमार सीमा पर कड़ी नजर रखी जा रही है। सेना मुख्यालय स्थिति पर करीब से नजर रखे हुए है। 

वहीं मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने इंफाल के शिजा अस्पताल का दौरा किया, जहां असम राइफल्स के काफिले पर आज के हमले में घायल हुए जवानों में से एक को भर्ती कराया गया है। उन्होंने कहा कि मैंने अपने अधिकारियों और अस्पताल प्राधिकरण को जवान के लिए सर्वोत्तम चिकित्सा देखभाल प्रदान करने का निर्देश दिया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक ट्वीट में कहा कि मणिपुर में असम राइफल्स के दस्ते पर हमले की मैं कड़ी निंदा करता हूं। इसमें शहीद हुए जवानों और परिवार के सदस्यों को मैं श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। उनकी शहादत को कभी भुलाया नहीं जा सकता। दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदानाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ है। 

इसके अलावा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इसे कायरतापूर्ण हमला बताते हुए कहा कि इसके दोषियों को जल्द ही न्याय के कटघरे में लाया जाएगा। उन्होंने ट्वीट किया कि मणिपुर के चुराचांदपुर में असम राइफल्स के काफिले पर कायराना हमला बेहद दुखद और निंदनीय है। देश ने 46वीं असम राइफल्स के सीओ सहित पांच बहादुर सैनिकों और उनके परिवार के दो सदस्यों को खो दिया है। शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं। दोषियों को जल्द ही न्याय के कटघरे में लाया जाएगा।

हमले में 46 असम राइफल्स के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल विप्लव त्रिपाठी शहीद हो गए। उनके साथ उनकी पत्नी और 8 साल के बच्चे की भी हमले में मौत हो गई। हमले में असम राइफल्स के 4 जवानों, एक अधिकारी, उनकी पत्नी और 8 साल के बच्चे की मौत के अलावा चार अन्य जवान घायल हो गए। सेना के अधिकारी के अनुसार, आतंकवादियों ने पहले 46 असम राइफल्स के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल विप्लव त्रिपाठी के काफिले पर घात लगाकर हमला करने के लिए IED ब्लास्ट किया और फिर मणिपुर के चुराचांदपुर में वाहनों पर फायरिंग की। अधिकारी अपने अग्रिम कंपनी अड्डे से अपने बटालियन मुख्यालय को लौट रहा था।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर