3 दिन तक बेटे के शव के पास बैठी रही मां, भूख से निकली थी बच्चे की जान

एक 7 साल के बच्चे की भूख से मौत हो जाती है। उसके शव के पास उसकी मां 3 दिनों तक बैठी रहती है। वह अपने बच्चे के शव को चींटियों से बचाने के लिए पोंछती रहती है।

dead body
भूख से निकली 7 साल के बच्चे की जान 

नई दिल्ली: एक मानसिक रूप से अस्थिर महिला कथित तौर पर तीन दिनों तक अपने नाबालिग बेटे के शव के बगल में बैठी रहती है और रिश्तेदारों या पड़ोसियों से मदद लेने से इनकार कर देती है। कथित तौर पर भुखमरी के कारण महिला के 7 साल के बेटे का निधन हो गया। मृतक बच्चे की पहचान सैमुअल के रूप में हुई है। सैमुअल की मां सरस्वती पुलिस के हस्तक्षेप करने से पहले तीन दिनों तक तमिलनाडु के थिरुनिन्द्रावुर में उसके शव के पास बैठी रही।

महिला अपने बेटे के शव को बार-बार चींटियों से बचाने के लिए पोंछती रही। बच्चे का शव सोमवार सुबह उसके घर से बरामद किया गया। पड़ोसियों ने दुर्गंध महसूस की और उन्होंने पुलिस को सूचित किया। इंस्पेक्टर गुनसेकरन ने कहा कि एक टीम महिला के घर पहुंची। महिला पुलिस को वहां ले गई जहां उसके बेटे का शव पड़ा हुआ था और उन्हें बताया कि वह पिछले 3 दिनों से इसके बगल में बैठी है।

पुलिस ने मौके से तीन दिन पुराना शव बरामद किया और उसे शव परीक्षण के लिए भेज दिया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला कि सैमुअल की मौत भुखमरी के कारण हुई। महिला के परिवार के सदस्यों के अनुसार, सरस्वती मानसिक रूप से अस्थिर है और वह लगभग 7 साल पहले अपने पति जोस से अलग होने के बाद अपने बेटे के साथ रह रही थी। जब उसका बेटा भूख से मर रहा था, तब भी महिला ने अपने किसी रिश्तेदार से संपर्क नहीं किया।

लगभग 4 महीने पहले सरस्वती और सैमुअल रिश्तेदारों को अपने निवास पर बेहोशी की हालत में पाए गए थे। रिश्तेदारों ने मां-बेटे के इलाज पर भी 1.5 लाख रुपए खर्च किए थे। पिछले कुछ हफ्तों से महिला घर में ही रह रही थी और ज्यादा बाहर नहीं आ रही थी। लॉकडाउन में उनकी हालत और बदतर होती जा रही थी।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर