बेटी ने मां का वादा किया पूरा, सुषमा स्वराज की बेटी बांसुरी ने हरीश साल्वे को दिए 1 रु. की फीस

देश
Updated Sep 27, 2019 | 22:41 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री सुषमा स्वराज की बेटी बांसुरी ने आईसीजे में कुलभूषण जाधव मामले में भारत का पक्ष रखने वाले हरीश साल्वे को 1 रुपए की फीस अदा की।

bansuri giving Re 1 to harish salve
वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे को मिली 1 रु. फीस  |  तस्वीर साभार: Twitter

नई दिल्ली : पूर्व केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज की बेटी बांसुरी ने वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे को 1 रुपए फीस दी। कुलभूषण जाधव मामले में भारत की ओर से आईसीजे में अपना पक्ष रखने वाले हरीश साल्वे ने पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मात्र 1 रुपए की फीस की डिमांड की थी। मां के इसी वादे को पूरा करते हुए बांसुरी ने हरीश साल्वे को 1 रुपए की फीस अदा की। 

सुषमा स्वराज के पति स्वराज कौशल ने एक ट्वीट करते हुए बताया कि बांसुरी ने आज तुम्हारी अंतिम इच्छा को पूरी कर दी है।
आपको बता दें कि सुषमा स्वराज ने अपने निधन से कुछ समय पहले ही वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे को अपनी बकाया फीस लेने के लिए बुलाया था।

हालांकि सुषमा स्वराज अपना वादा पूरा नहीं कर पाईं और इससे पहले ही वे इस दुनिया से चल बसीं। लेकिन अब उनकी बेटी बांसुरी ने अपनी मां का कुलभूषण जाधव को किया हुआ वादा पूरा कर दिया है। 

बता दें कि निधन से पहले सुषमा स्वराज ने हरीश साल्वे से कहा था कि कल सुबह 6 बजे आकर अपनी 1 रुपए की बकाया फीस ले जाना। लेकिन इससे पहले स्वराज का निधन हो गया और उनका किया हुआ ये वादा अधूरा ही रह गया। वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे ने सुषमा स्वराज से की गई इस अंतिम बातचीत के बारे में बताया था और कहा था कि ये काफी भावनात्मक था।

क्या था 1 रु. का मामला
भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान ने मार्च 2016 को जासूसी के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इसके बाद से ही वहां की सैन्य अदालत में उस पर मुकदमा चलाया जा रहा था। इस बाद भारत को उससे मिलने की अनुमति भी देनी बंद कर दी।

पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने जब कुलभूषण जाधव को मौत की सजा सुनाई तब इस मामले को भारत ने आखिर में इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) में उठाया। वहां पर भारत की तरफ से वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे ने कोर्ट में कुलभूषण जाधव का पक्ष रखा। यहां भारत ने जाधव को काउन्सलर एक्सेस देने की मांग की।

आईसीजे में कई बार मुंह की खाने के बाद पाकिस्तान आखिरकार कुलभूषण जाधव को काउन्सलर एक्सेस देने को राजी हो गया। आईसीजे में भारत की की इस जीत पर तत्कालीन वित्त मंत्री सुषमा सिवराज बेहद प्रसन्न हुई थी और इस केस को लड़ने के लिए वकील हरीश साल्वे का धन्यवाद किया था।   

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...