पेगासस जासूसी केस पर सुप्रीम कोर्ट, टेक्निकल कमेटी का जल्द होगा गठन

पेगासस मुद्दे की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट ने एक तकनीकी समित गठित करने का फैसला किया है। इस समिति के गठन के बारे में दिशानिर्देश जल्द जारी किया जाएगा।

Spying through Pegasus, Israeli spyware Pegasus, Supreme Court
पेगासस जासूसी केस पर सु्प्रीम कोर्ट, टेक्निकल कमेटी का जल्द होगा गठन 
मुख्य बातें
  • पेगासस केस पर टेक्निकल एक्सपर्ट कमेटी का होगा गठन
  • अंतरराष्ट्रीय मीडिया के खुलासे के बाद भारत में हंगामा हुआ
  • राजनीतिक दलों के नेताओं ने केंद्र सरकार पर साधा था निशाना

पेगासस केस की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट एक तकनीकी जानकारों की टीम गठित करेगा। इस संबंध में चीफ जस्टिस एन वी रमण ने बताया। उन्होंने कहा कि अदालत इस संबंध में जल्द ही दिशानिर्देश भी जारी करेगा। गुरुवार को सुनवाई के दौरान उन्हंने बताया कि कमेटी का स्वरूप कैसा होगा और किस तरह से जांच प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जाएगा। अदालत ने कहा कि अगले हफ्ते तक टेक्निकल एक्सपर्ट कमेटी गठित कर दी जाएगी। 

पेगासस केस में टेक्निकल कमेटी का होगा गठन
चीफ जस्टिस ने सुनवाई के दौरान  बताया कि तकनीकी समिति में शामिल होने के लिए कुछ जानकारों से संपर्क किया गया है हालांकि निजी परेशानी की वजह से कुछ जानकार हिस्सा नहीं बन पा रहे। पेगासस के मुद्दे पर संसद का मानसून सत्र नहीं चल पाया था। दरअसल विपक्ष के कुछ नेताओं का कहना था कि सरकार पेगासस सॉफ्टवेयर के जरिए जासूसी करा रही थी। इस मुद्दे पर सरकार ने जवाब दिया था कि किसी भी नेता की जासूसी नहीं कराई गई है। सिर्फ राजनीतिक फायदे के लिए बेवजह विवाद खड़ा किया जा रहा है। 

भारत में पेगासस जासूसी पर हुआ था हंगामा
बता दें कि यह मामला सुर्खियों में तह आया जब इंटरनेशनल मीडिया में इस तरह की जानकारी सामने आई की भारत सरकार इजरायली स्पाइवेयक की मदद से उन लोगों का जासूसी करा रहा है जो उसके विचार से मेल नहीं खाते हैं। पेगासस के जरिए कई नेताओं, पत्रकारों और दूसरी शख्सियतों की जासूसी की गई थी। जिन लोगों ने आरोप लगाया था उसमें राहुल गांधी, प्रशांत किशोर और ममता बनर्जी का नाम शामिल था।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर