सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, ऑक्सीजन आवंटन को कारगर बनाने के लिए नेशनल टास्क फोर्स का गठन किया

देश
Updated May 08, 2021 | 19:15 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

देश में कोरोना वायरस के कहर के बीच ऑक्सीजन और आवश्यक दवाओं को लेकर उभरे संकट पर काबू पाने के लिए नेशनल टास्क फोर्स गठन करने का फैसला किया है।

oxygen
ऑक्सीजन को लेकर सुप्रीम कोर्ट का फैसला 

नई दिल्ली: कोरोना वायरस की दूसरी लहर में ऑक्सीजन और आवश्यक दवाओं को लेकर बड़ी समस्या सामने आई है। कई राज्यों और अस्पतालों ने शिकायतें की हैं कि उन्हें पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं मिल रही है। अब इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला किया है। सुप्रीम कोर्ट ने ऑक्सीजन आवंटन को कारगर बनाने के लिए टास्क फोर्स का गठन किया है। सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को एक 12-सदस्यीय नेशनल टास्क फोर्स का गठन किया है, जिसे राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को मेडिकल ऑक्सीजन और आवश्यक दवाओं के वैज्ञानिक आवंटन के लिए एक कार्यप्रणाली तैयार करने का काम सौंपा जाएगा। अदालत ने कहा है कि सरकार की आवंटन नीति में सुधार की जरूरत है।

अदालत ने कहा कि यह टास्क फोर्स काम करने के लिए अपने तौर-तरीके और प्रक्रिया तैयार करने के लिए भी स्वतंत्र होगी। टास्क फोर्स का उद्देश्य है कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को मेडिकल ऑक्सीजन का आवंटन वैज्ञानिक, तर्कसंगत और न्यायसंगत आधार पर हो। न्यायमूर्ति डी. वाई. चंद्रचूड़ और एम. आर. शाह की एक पीठ ने कहा, एक आम सहमति बन गई है कि यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को मेडिकल ऑक्सीजन का आवंटन वैज्ञानिक, तर्कसंगत और न्यायसंगत आधार पर किया जाए। इसी समय, लचीलेपन के लिए उन आपात स्थितियों के कारण अप्रत्याशित मांगों को पूरा करने की अनुमति देनी चाहिए, जो आवंटित क्षेत्रों के भीतर उत्पन्न हो सकती हैं। शीर्ष अदालत ने कहा, यह आवश्यक है कि कोविड-19 महामारी के दौरान सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को चिकित्सा ऑक्सीजन आवंटित करने के उद्देश्य से केंद्र सरकार के भीतर एक प्रभावी और पारदर्शी तंत्र स्थापित किया जाए।

ये होंगे नेशनल टास्क फोर्स के सदस्य 

  1. डॉ. भबतोष विश्वास, पूर्व कुलपति, पश्चिम बंगाल यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंसेज, कोलकाता
  2. डॉ. देवेंद्र सिंह राणा, अध्यक्ष, प्रबंधन बोर्ड, सर गंगा राम अस्पताल, दिल्ली
  3. डॉ. देवी प्रसाद शेट्टी, अध्यक्ष और कार्यकारी निदेशक, नारायण हेल्थकेयर, बेंगलुरु
  4. डॉ. गगनदीप कांग, प्रोफेसर, क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज, वेल्लोर, तमिलनाडु
  5. डॉ. जेवी पीटर, क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज के निदेशक, वेल्लोर, तमिलनाडु
  6. डॉ. नरेश त्रेहान, अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, मेदांता हॉस्पिटल एंड हार्ट इंस्टीट्यूट, गुरुग्राम
  7. डॉ. राहुल पंडित, डायरेक्टर, क्रिटिकल केयर मेडिसिन और आईसीयू, फोर्टिस हॉस्पिटल, मुलुंड (मुंबई, महाराष्ट्र) और कल्याण (महाराष्ट्र)
  8. डॉ. सौमित्र रावत, अध्यक्ष और प्रमुख, सर्जिकल गैस्ट्रोएंटरोलॉजी और लिवर ट्रांसप्लांट विभाग, सर गंगा राम अस्पताल, दिल्ली
  9. डॉ. शिव कुमार सरीन, वरिष्ठ प्रोफेसर और हेपेटोलॉजी विभाग के प्रमुख, इंस्टीट्यूट ऑफ लिवर एंड बायिलरी साइंस (ILBS), दिल्ली में डायरेक्टर
  10. डॉ. जरीर एफ उदवाडिया, कंसल्टेंट चेस्ट फिजिशियन, हिंदुजा अस्पताल, ब्रीच कैंडी हॉस्पिटल और पारसी जनरल हॉस्पिटल, मुंबई
  11. सचिव, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार (पदेन सदस्य)
  12. नेशनल टास्क फोर्स का संयोजक, जो एक सदस्य भी होगा, टास्क फोर्स के लिए केंद्र सरकार का कैबिनेट सचिव होगा

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर