Smriti Irani: स्मृति ईरानी की नजर में राहुल गांधी एहसान फरामोश, बोलीं- थोथा चना बाजे घना

राहुल गांधी के बयान 15 वर्ष तक उत्तर भारत से सांसद थे और अलग राजनीति की आदत वाले बयान पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने उन्हें घेरते हुए एहसान फरामोश करार दिया।

Smriti Irani: स्मृति ईरानी की नजर में राहुल गांधी एहसान फरामोश, बताया एहसान फरामोश और थोथा चना बाजे घना
स्मृति ईरानी, केंद्रीय मंत्री 

मुख्य बातें

  • स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को बताया थोथा चना बाजे घना
  • सीएम योगी आदित्यनाथ बोले-क्षेत्रवाद की बात ना करें राहुल गांधी
  • राहुल गांधी ने कहा था कि उत्तर भारत से सांसद रहते हुए अलग तरह की राजनीति की आदत हो गई थी।

नई दिल्ली। वायनाड से कांग्रेस सांसद राहुल गांधी इस समय अपने संसदीय क्षेत्र के दौरे पर हैं। इन सबके बीच त्रिवेंद्रम में उन्होंने बड़ा बयान दिया कि वो  15 वर्ष तक उत्तर भारत से सांसद थे और उन्हें एक अलग तरह राजनीति की आदत हो गई थी। उनके इस बयान के बाद अमेठी से बीजेपी सांसद स्मृति ईरानी ने करारा जवाब दिया। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी एहसान फरामोश है।

स्मृति ईरानी ने कसा तंज
अमेठी की जिस जनता ने उन्हें जीत का स्वाद चखाया उन लोगों का अपमान है। यही नहीं राहुल गांधी क्या कुछ बोल जाते हैं सच तो यह है कि उन्हें कुछ पता नहीं रहता है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी अपने गैर जिम्मेदार बयानों के लिए ही जाने जाते रहे हैं। मामला कोई भी उनका राग पुराना ही रहता है। आप उनसे बहुत समझदारी की उम्मीद नहीं कर सकते हैं। अमेठी की जिस जनता ने उन्हें प्यार, सम्मान और विश्वास दिया उनके लिए भी वो इस तरह की बात कर रहे हैं। 

योगी आदित्यनाथ ने राहुल गांधी पर साधा निशाना
राहुल गांधी के इस तरह के बयान पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी कड़े शब्दों मे ना सिर्फ निंदा की बल्कि कड़े शब्दों में प्रतिवाद भी किया। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि श्रीमान राहुल जी, श्रद्धेय अटल जी ने कहा था कि 'भारत जमीन का टुकड़ा नहीं, जीता जागता राष्ट्रपुरुष है' कृपया आप इसे अपनी ओछी राजनीति की पूर्ति के लिए 'क्षेत्रवाद' की तलवार से काटने का कुत्सित प्रयास न करें। भारत एक था, एक है, एक ही रहेगा। भारत माता की जय


राहुल गांधी ने क्या कहा था
उन्होंने कहा, 'मैं अमेरिका में कुछ छात्रों से बात कर रहा था और मैंने कहा कि मुझे केरल जाने में बहुत मजा आता है। यह सिर्फ स्नेह नहीं है, बल्कि जिस तरह से आप अपनी राजनीति करते हैं। अगर मैं ऐसा कह सकता हूं, तो जिस बुद्धिमत्ता के साथ आप अपनी राजनीति करते हैं (उस वजह से)। तो मेरे लिए यह सीखने वाला अनुभव है और आनंद है।' 
 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर