EXCLUSIVE: सर्वे टीम के कैमरामैन का बहुत बड़ा दावा, ज्ञानवापी की पश्चिम दीवार पर कमल का फूल, नंदी की मूर्ति भी देखी

Gyanvapi Masjid: वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे करने वाली टीम के साथ गए कैमरामैन ने टाइम्स नाउ नवभारत पर बड़ा दावा किया है। उनके अनुसार, मस्जिद पर कमल के निशान हैं। दीवार पर स्वास्तिक के निशान हैं, दीवारों पर मूर्तियां उकेरी गई हैं।

Gyanvapi Masjid
ज्ञानवापी मस्जिद में हुए सर्वे से हुआ खुलासा 

श्रृंगार गौरी मंदिर-ज्ञानवापी मस्जिद विवाद में बड़ा खुलासा हुआ है। TIMES NOW नवभारत पर ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर सर्वे करने वाली टीम के कैमरामैन ने बड़ा दावा किया है। कैमरामैन गणेश शर्मा का दावा है कि उन्होंने मस्जिद की दीवार पर स्वास्तिक के निशान देखे हैं। गणेश शर्मा के मुताबिक परिक्रमा करते वक्त उन्होंने नंदी की मूर्ति भी देखी है। गणेश शर्मा ने मस्जिद के दीवारों पर हिंदू धर्म से जुड़े प्रतीक चिन्हों को देखने का दावा किया। सुप्रीम कोर्ट के वकील विष्णु ने भी दावे को सही ठहराया है। श्रृंगार गौरी के पास आकृतियां भी हैं।

ज्ञानवापी परिसर में सर्वे का आज दूसरा दिन था। हालांकि आज भी सर्वे नहीं हो पाया। हिंदू पक्ष का दावा था कि मुस्लिम समुदाय के लोगों ने रास्ता रोका। 

ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे पर बोले असदुद्दीन ओवैसी, 'यह पूजा स्थल अधिनियम 1991 का खुला उल्लंघन है'

अंजुमन इंतेजामिया मस्जिद कमेटी के वकील रईद अहमद ने शनिवार को कहा कि हमने (अदालत) आयुक्त के खिलाफ एक आवेदन दायर किया क्योंकि वह पक्षपाती हैं और उन्हें हटाया जाना चाहिए। कोर्ट अर्जी पर सुनवाई करेगी और उसके आदेशों का पालन किया जाएगा। काशी विश्वनाथ मंदिर के वकील विजय शंकर रस्तोगी ने कहा कि आवेदन को दुर्भावनापूर्ण कहा गया है और इसे खारिज कर दिया जाना चाहिए। आदेश अभी तक सुरक्षित है। आयोग की कार्यवाही के बाद यदि कोई गलत रिपोर्ट प्रस्तुत की जाती है या इसे समय से पहले प्रस्तुत किया जाता है, तो विपरीत पक्ष इस पर आपत्ति कर सकता है और अदालत इस पर विचार करेगी। लेकिन अंजुमन इंतेजामिया मस्जिद कमेटी के आवेदन का डीजीसी सिविल ने विरोध किया है। अंजुमन इंतेजामिया मस्जिद कमेटी द्वारा कोर्ट कमिश्नर बदलने के लिए आज दायर अर्जी के संबंध में जज (सीनियर डिवीजन) ने कोर्ट कमिश्नर और वादी को 9 मई को अगली सुनवाई में लिखित में अपना पक्ष रखने को कहा है।

क्या है ज्ञानवापी विवाद, जानें अब तक क्या-क्या हुआ, राजनीति पर डालेगा असर !

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर