Delhi-NCR में अब बढ़ता जाएगा पारा, मार्च-मई में लू चलने के आसार : IMD

देश
भाषा
Updated Mar 02, 2021 | 09:22 IST

Weather in North India : आईएमडी ने मार्च से मई तक के अपने ग्रीष्मकालीन पूर्वानुमान में कहा कि उत्तर, पूर्वोत्तर तथा पूर्व एवं पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों में दिन का तापामान सामान्य से अधिक रहने की आशंका है।

Scorching summer in north india heat waves likely in Delhi NCR : IMD
Delhi-NCR में अब बढ़ता जाएगा पारा, मार्च-मई में लू चलने के आसार : IMD   |  तस्वीर साभार: PTI

नई दिल्ली : मौसम विज्ञान विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने सोमवार को कहा कि दिल्ली-एनसीआर में मार्च से मई तक लू चलने और दिन और रात के तापमान के सामान्य से अधिक रहने के आसार हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली में तापमान सामान्य से 0.5 डिग्री सेल्सियस तक अधिक होने की 60 प्रतिशत संभावना है। महापात्रा ने कहा, ‘पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली ऐसे क्षेत्र हैं जहां अधिकतम और न्यूनतम, दोनों मामलों में तापमान सामान्य से ऊपर रहने (की संभावना) है। इस क्षेत्र में, आप लू की उम्मीद कर सकते हैं, रात और दिन गर्म होने की आशंका है।’

आईएमडी ने अपने पूर्वानुमान में कहा कि मार्च से मई तक उत्तर, उत्तर पूर्व तथा पूर्व और पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों में दिन का तापमान सामान्य से अधिक रहने की संभावना है। विभाग ने हालांकि, दक्षिण और इससे सटे मध्य भारत में तापमान सामान्य से नीचे रहने का पूर्वानुमान जताया है।

देशभर में सामान्य से अधिक गर्मी पड़ेगी 
आईएमडी ने मार्च से मई तक के अपने ग्रीष्मकालीन पूर्वानुमान में कहा कि उत्तर, पूर्वोत्तर तथा पूर्व एवं पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों में दिन का तापामान सामान्य से अधिक रहने की आशंका है। हालांकि, दक्षिण एवं उससे सटे मध्य भारत में दिन का तापमान सामान्य से कम रहने का अनुमान जताया गया है। मौसम विभाग ने कहा, ‘आगामी ग्रीष्मकाल में (मार्च से मई तक) उत्तर, पश्चिमोत्तर और पूर्वोत्तर भारत के अधिकतर उपसंभागों तथा मध्य भारत के पूर्वी एवं पश्चिमी भागों के कुछ उपसंभागों एवं उत्तरी प्रायद्वीप के कुछ तटीय उपसंभागों में अधिकतम तापमान सामान्य से अधिक रह सकता है।’

कई राज्यों में सामान्य से अधिक तापमान होने की संभावना
छत्तीसगढ़, ओड़िशा, गुजरात, तटीय महाराष्ट्र, गोवा एवं तटीय आंध्र प्रदेश में अधिकतम तापमान सामान्य से अधिक रहने का अनुमान है। आईएमडी ने कहा, ‘लेकिन दक्षिण प्रायद्वीप एवं समीपवर्ती मध्य भारत के अधिकतम उपसंभागों में अधिकतम तापमान सामान्य से कम रहने की संभावना है।’ मौसम विभाग ने कहा कि हिमालय के तलहटी वाले क्षेत्रों, पूर्वोत्तर भारत, मध्य भारत के पश्चिमी हिस्से और प्रायद्वीपीय भारत के दक्षिणी हिस्से के साथ-साथ उत्तरी भारत के ज्यादातर भागों में रात का तापमान भी सामान्य से अधिक रहने का अनुमान है।

'ला नीना’ की स्थिति बनी हुई है
आईएमडी ने कहा, ‘लेकिन, मध्य भारत के पूर्वी हिस्से के ज्यादातर उपंसभागों में और और देश के सुदूर उत्तरी हिस्सों के कुछ उपसंभागों में न्यूनतम तापमान सामान्य से नीचे रह सकता है।’मौसम विभाग ने कहा कि विषुवतीय प्रशांत क्षेत्र के ऊपर मध्यम ‘ला नीना’ की स्थिति बनी हुई है। वहीं, मध्य एवं पूर्वी विषुवतीय प्रशांत सागर के ऊपर समुद्री सतह का तामपान सामान्य से नीचे है। आईएमडी अप्रैल से जून तक के लिए दूसरा ग्रीष्मकाल पूर्वानुमान अप्रैल में जारी करेगा। मौसम विभाग के अनुसार देश में जनवरी न्यूनतम तापमान के लिहाज से 62 साल में सबसे अधिक गर्म महीना रहा।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर