जालसाजी का शिकार हुआ श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट, फर्जी चेक से निकाले 6 लाख रु.

Fraud with Ram Mandir trust: श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट धोखाधड़ी का शिकार हुआ है। ट्रस्ट के खाते से छह लाख रुपए निकालने की बात सामने आई है। अयोध्या पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

Rs 6 lakh stolen from Ayodhya's Ram Mandir trust through two fake cheques: Ayodhya Police
जालसाजी का शिकार हुआ श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास।  |  तस्वीर साभार: ANI

मुख्य बातें

  • धोखाधड़ी का शिकार हुआ श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट
  • जालसाजों ने फर्जी चेक के जरिए बैंक खातें से रकम निकाली
  • अयोध्या पुलिस मामले की कर रही जांच, अभी गिरफ्तारी नहीं

अयोध्या (उत्तर प्रदेश) : अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट धोखाधड़ी का शिकार हो गया है। बताया जा रहा है कि जालसाजों ने दो फर्जी चेक के जरिए ट्रस्ट के खाते से छह लाख रुपए निकाल लिए हैं। यह चोरी तब पकड़ में आई जब जांच के दौरान तीसरा फर्जी चेक पकड़ में आया। ट्रस्ट के खजाने से चोरी का सामना आने के बाद लोग हैरान हैं। आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की जा रही है। 

ट्रस्ट के सचिव ने शिकायत दर्ज कराई
अयोध्या पुलिस ने गुरुवार को कहा कि ट्रस्ट सचिव चंपत राय ने इस बारे में शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने बताया कि हालांकि इस मामले में अभी कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। अयोध्या के सीओ राजेश कुमार राय ने समाचार एजेंसी एएनआई के साथ बातचीत में कहा, 'श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सचिव चंपत राय ने कल शिकायत दर्ज कराई। अपनी शिकायत में उन्होंने ट्रस्ट के बैंक खाते से छह लाख रुपए निकालने की बात कही है। उन्होंने बताया कि दो फर्जी चेक के जरिए क्रमश: 2.5 लाख एवं 3.5 लाख रुपए की रकम निकाली गई है। ये लेन-देन लखनऊ के एक पंजाब नेशनल बैंक में हुई है।'

तीसरा फर्जी चेक पकड़ में आया
पुलिस अधिकारी ने कहा, 'ट्रस्ट के खाते से तीसरी बार रकम निकालने के लिए नौ सितंबर को बैंक ऑफ बड़ौदा में 9.86 लाख रुपए का चेक भेज गया। इस पर बैंक ने चेक को सत्यापित करने के लिए चंपत राय को बुलाया। राय ने पाया कि जो चेक बैंक में लगाया गया है वह चेक नंबर उनके पास है। इसके बाद उन्होंने बुधवार रात कोतवाली पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई।'

तीसरा फर्जी चेक 9.86 लाख रुपए का
पुलिस अधिकारी ने कहा कि शिकायत के बाद इस धोखाधड़ी की जांच की जा रही है। उन्होंने कहा, 'आरोपी को शीघ्र गिरफ्तार कर लिया जाएगा।' ट्रस्ट के अकाउंटेंट दीनानाथ वर्मा का कहना है, 'किसी ने दो फर्जी चेक के जरिए खाते से पैसे निकालने की कोशिश की। जालसाज चार लाख रुपए पहले ही निकाल चुके हैं जबकि आगे की धोखाधड़ी पर हमने रोक लगाते हुए दो लाख रुपए बचा लिए हैं। इस जालसाजी का पता हमें उस वक्त लगा जब बैंक ऑफ बड़ौदा ने 9.86 लाख रुपए के चेक के बारे में पूछताछ के लिए हमें वहां बुलाया।'
 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर