Rashtravad: छात्रों में भ्रम फैलाकर अग्निपथ योजना के नाम पर कब तक सियासत?

Rashtravad : अग्निपथ योजना को लेकर लगातार विरोध प्रदर्शन हो रहा है। सरकार सेना में भर्ती को इच्छुक असंतुष्ट युवाओं को समझाने की लगातार कोशिश कर ही है। तीनों सेनाओं ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर स्कीम की खूबियां गिनाई। जबकि कांग्रेस कह रहा है कि चार साल बाद अग्निनवीर नक्सली बन जाएंगे। देश खून से लथपथ हो जाएगा।

Rashtravad: How long will the politics be in the name of Agniveer by spreading confusion among the students?
अग्निपथ योजना को लेकर सियासत शुरू 
मुख्य बातें
  • जिसने फैलाई हिंसा, उन्हें आर्मी में जगह नहीं
  • सेना की दो टूक 'अग्निपथ' पर नो रोल बैक
  • हिंसा के पीछे साजिश, भड़काऊ गैंग पर एक्शन

Rashtravad : अग्निपथ योजना को लेकर पिछले पांच दिनों से देश में कई जगहों पर विरोध के नाम पर आगजनी और हिंसा की तस्वीरें सामने आईं। बिहार से लेकर यूपी तक अग्निपथ योजना के विरोध में आज भी प्रदर्शन किए जा रहे हैं। लेकिन इस बीच सरकार लगातार ये बता रही है कि अग्निपथ योजना युवाओं के हित में है। सरकार लगातार युवाओं को समझाने का काम कर रही है। इस बीच आज तीनों सेनाओं ने मिलकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की। सेना ने इस योजना के बारे में डिटेल से बताया साथ ही कड़े ऐलान भी किए। सेना ने साफ साफ कहा कि जो लोग हिंसा-प्रदर्शन में शामिल हैं उन्हें इस योजना से दूर रखा जाएगा। साफ है कि जो लोग हिंसा कर रहे हैं वो सेना के अग्निवीर नहीं बन सकते हैं।

अग्निपथ योजना को लेकर कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दल सरकार को घेर रहे हैं। इस योजना पर सवाल उठाकर सरकार पर हमला कर रहे हैं। कई सवाल पूछे जा रहे हैं। कांग्रेस नेता ये तक कह रहे हैं कि चार साल बाद अग्निनवीर नक्सली बन जाएंगे। देश खून से लथपथ हो जाएगा। बीजेपी ने कांग्रेस पर पलटवार किया है।

ऐसे में आज के सवाल हैं 
जिसने फैलाई हिंसा...उन्हें आर्मी में जगह नहीं ? 
हिंसा के पीछे साजिश..भड़काऊ गैंग पर एक्शन? 
छात्रों में भ्रम फैलाकर अग्निवीर के नाम पर कब तक सियासत?

अग्निपथ योजना पर तीनों सेनाओं का साझा बयान, बताई खूबियां और बोले- हिंसा में शामिल लोगों की नहीं होगी भर्ती

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर