रामदास अठावले की शरद पवार को सलाह, शिवसेना के साथ जाने से फायदा नहीं, महाराष्ट्र के लिए एनडीए का बनें हिस्सा

देश
ललित राय
Updated Jul 13, 2020 | 15:47 IST

आरपीआई नेता रामदास अठावले ने शरद पवार को सलाह दी है कि महाराष्ट्र के विकास के लिए उन्हें एनडीए में आ जाना चाहिए। वो कहते हैं कि शिवसेना के साथ जाने से एनसीपी को किसी तरह का फायदा नहीं हुआ।

रामदास अठावले की शरद पवार को सलाह, शिवसेना के साथ जाने से फायदा नहीं, महाराष्ट्र के लिए एनडीए का बनें हिस्सा
रामदास अठावले, केंद्रीय मंत्री और आरपीआई के अध्यक्ष 

मुख्य बातें

  • रामदास अठावले की शरद पवार को सलाह
  • महाविकास अघाड़ी छोड़कर एनडीए का हिस्सा बनें, शिवसेना के साथ जाने से फायदा नहीं
  • देश और महाराष्ट्र के हित के बारे में शरद पवार करें विचार

नई दिल्ली। शिवसेना की अगुवाई में महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी की सरकार है जिसमें एनसीपी और कांग्रेस भी शामिल है। यह तीन दलों का ऐसा गठबंधन है जो वैचारिक आधार पर एक दूसरे के नजदीक कभी नहीं रहे। लेकिन राज्य के लिए इन तीनों दलों ने एक साथ आने का फैसला किया। यह बात अलग है कि समय समय पर टकराव के सुर सुनाई देते हैं। ऐसे में आरपीआई के नेता और केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने शरद पवार को सुझाव दिया है। 
रामदास अठावले की सलाह
रामदास अठावले कहते हैं कि एनसीपी का शिवसेना को समर्थन देने का फैसला सही नहीं था। शिवसेना को समर्थन देने से उन्हें किसी तरह का फायदा नहीं है। अगर शरद पवार देश का विकास चाहते हैं, अगर वो चाहते हैं कि केंद्र सरकार राज्य को अधिक धन मुहैया कराएगी तो उन्हें नरेंद्र मोदी को समर्थन देने के बारे में सोचना चाहिए और एनडीए का हिस्सा बनना चाहिए। 

महाविकास अघाड़ी से महाराष्ट्र को फायदा नहीं
रामदास अठावले इसके साथ यह बताते हैं कि महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी की सरकार चल रही है। लेकिन सच यह है कि जनता की आकांक्षा पर कुठाराघात हो रहा है। बेमेल विचारों का संगम तो है लेकिन कांग्रेस सांसद राहुल गांधी अपनी ही सरकार के फैसलों की आलोचना करने से नहीं चुकते। वो पहले भी कह चुके हैं कि सरकार को समर्थन देने और सरकार का हिस्सा बने रहने में काफी फर्क है। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर