राज्यसभा चुनाव: गुजरात में विधायकों के इस्तीफे के बाद फंसी कांग्रेस की सीट

Gujarat Rajya Sabha Election: गुजरात में कांग्रेस विधायकों ने राज्यसभा चुनावों से ठीक पहले इस्तीफा देकर पार्टी के लिए परेशानियां खड़ी कर दी हैं।

Parliament
Parliament 

मुख्य बातें

  • गुजरात में राज्यसभा की 4 सीटों के लिए होने हैं चुनाल
  • 19 जून को होना है मतदान और कांग्रेस के दो विधायकों ने पद से इस्तीफा दे दिया है
  • इससे बिगड़ गया है कांग्रेस पार्टी के दो सीट जीतने का समीकरण

अहमदाबाद: कोरोना वायरस से जूझ रहे गुजरात में 19 जून को होने वाले राज्यसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक गहमाहमी तेज हो गई है। गुरुवार को कांग्रेस पार्टी को चुनावों से पहले तगड़ा झटका लगा है। कांग्रेस के दो विधायकों ने विधानसभा से इस्तीफा दे दिया और तीसरे कांग्रेस विधायक ने कहा है कि वो भी इस्तीफा देने जा रहे हैं। ऐसे में एक बार फिर गुजरात में राज्य सभा सीटों का चुनाव रोचक हो गया है।

इंडियन एक्सप्रेस में प्रकाशित खबर के मुताबित करजन सीट से विधायक अक्षय पटेल ने इस्तीफा दे दिया है। वहीं कपराडा के विधायक जीतू चौधरी भी लंबे समय से पार्टी के संपर्क में नहीं थे। तो पार्टी मान रही है कि उन्होंने भी इस्तीफा दे दिया है। ऐसे में कांग्रेस पार्टी का कहना है कि अपुष्ट रिपोर्ट के मुताबिक एक और (तीसरा) विधायक भी अपने पद से इस्तीफा दे सकता है। एक वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने कहा, दो लोगों की मैं पुष्टि कर सकता हूं। तीसरे के बारे में हम पुष्टि करने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसा होने की आशा थी। ये गुजरात है और यदि भाजपा अन्य राज्यों में ऐसा कर सकती है तो ये तो उनका होम ग्राउंड है। 

नाकाम रही विधायकों को ढूंढने की कांग्रेस की कोशिश 
कांग्रेस पार्टी के नाताओं ने पिछली रात खुद को परेशानी में डालकर विधायकों को ढूंढने की बेहतरीन और पुरजोर कोशिश की लेकिन वो अपने प्रयास में सफल नहीं हो पाई। एआईसीसी में गुजरात के प्रभारी राजीव स्तव ने ट्वीट करर कहा, भारत एक तरफ जहां आजादी के बाद सबसे बड़ी स्वास्थ्य और मानवीय त्रासदी का सामना कर रहा है। तब भाजपा राज्यसभा चुनाव के मद्देनदर विरोधी दल के विधायकों का शिकार करने में अपनी ऊर्जा खर्च कर रही है। इनपर धिक्कार है!


मार्च में भी पांच विधायकों ने दिया था इस्तीफा 
कांग्रेस पार्टी को राज्य में तगड़ा झटका मार्च के महीने में उस वक्त लगा था जब उसके पांच विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था। इसके साथ ही गुजरात विधानसभा में उसके सदस्यों की संख्या घटकर 68 हो गई थी। हालांकि हालिया घटना ने कांग्रेस को हिला कर रख दिया है और उसके चार में से दो सीटों पर जीत दर्ज करने की योजना पर अनिश्चित्ता की तलवार लटकने लगी है। 

ऐसा है विधानसभा में समीकरण 
कांग्रेस के पूर्व नेता नरहरि अमीन ने कहा, गुजरात विधानसभा में भाजपा के पास 103 सीटें हैं और वो राज्य में आसानी से दो सीट जीतने की स्थिति में है। वहीं कांग्रेस के मार्च में 5 विधायकों के इस्तीफा देने के बाद 68 विधायक शेष बचे हैं। ऐसे में हालिया इस्तीफों के बाद उसके लिए दूसरी सीट जीतना मुश्किल नजर आ रहा है। भाजपा ने अपने तीसरे उम्मीदवार के लिए पूरे समीकरण अपने पक्ष मे बैठा लिए हैं।  


 

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर