राजस्थान बीजेपी अध्यक्ष ने मवेशियों की मौत को लेकर गहलोत सरकार पर किया हमला, कहा- कांग्रेस को ऐसी लंपी लगेगी कि...

Rajasthan: पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए सतीश पूनिया ने गायों को लंपी से बचाने में विफल रहने पर राज्य में कांग्रेस सरकार की आलोचना की। उन्होंने राज्य सरकार से उन किसानों को मुआवजा देने की मांग की, जिनके मवेशियों की मौत लंपी के कारण हुई है।

Rajasthan BJP president attacks Gehlot government over cattle deaths says Congress will feel lumpy that
मवेशियों की मौत को लेकर बीजेपी का गहलोत सरकार पर हमला।  |  तस्वीर साभार: Twitter

Rajasthan: लंपी से राजस्थान में हजारों मवेशियों की मौत को लेकर बीजेपी कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को राजधानी जयपुर में विरोध मार्च निकाला। विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे राजस्थान बीजेपी के अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कांग्रेस के पतन की भविष्यवाणी करते हुए कहा कि 2023 के बाद पार्टी का सफाया हो जाएगा। 

लंपी से मवेशियों की मौत को लेकर बीजेपी का गहलोत सरकार पर हमला

Lumpy Virus in Hindi: राजस्थान में कहर बरपा रहा लंपी वायरस, क्या कोविड की तरह इंसानों के लिए भी खतरनाक?

पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए सतीश पूनिया ने गायों को लंपी से बचाने में विफल रहने पर राज्य में कांग्रेस सरकार की आलोचना की। उन्होंने राज्य सरकार से उन किसानों को मुआवजा देने की मांग की, जिनके मवेशियों की मौत लंपी के कारण हुई है।

सतीश पूनिया ने कहा कि गौमाता का बलिदान हो गया लाखो मैं। पर कांग्रेस को ऐसी लंपी लगेगी कि 2023 और उसके बाद पार्टी का खात्म हो जाएगा। विरोध के दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं को पुलिस द्वारा पीछे धकेलते देखा गया। पशुपालन विभाग के अनुसार लंपी बीमारी के कारण 59,027 जानवरों की मौत हो चुकी है और पूरे भारत में 13,02,907 जानवर इससे प्रभावित हुए हैं।

Lumpy Virus: जानिए क्या है लंपी वायरस जो राजस्थान में बरपा रहा है कहर, अब तक 45 हजार से अधिक गायों की मौत

वहीं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि गायों लंपी बीमारी को फैलने से रोकने के लिए राज्य सरकार युद्धस्तर पर हर संभव प्रयास कर रही है। 


 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
ET Now
ET Now Swadesh
Mirror Now
Live TV
अगली खबर