India China Tension: राहुल गांधी की सरकार को सलाह, मार्च 2020 से पहले वाले हालात पर हो बात अन्यथा बातचीत बेकार

देश
ललित राय
Updated Sep 11, 2020 | 19:04 IST

Rahul Gandhi advice to Narendra Modiभारत-चीन तनाव के बीच कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने एक बार फिर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। वो कहते हैं कि बातचीत मार्च 2020 के पहले वाले हालात पर होनी चाहिए।

india china tension: राहुल गांधी की सरकार को सलाह, मार्च 2020 से पहले वाले हालात पर हो बात अन्यथा बातचीत बेकार
राहुल गांधी, कांग्रेस सांसद 

मुख्य बातें

  • चीन से तनाव के बीच एक बार फिर मोदी सरकार पर राहुल गांधी ने साधा निशाना
  • राहुल गांधी ने तंज के साथ दी सलाह, बात मार्च 2020 के हालात पर हो अन्यथा बातचीत बेकार
  • एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने अनावश्यक टिप्पणी करने से बचने की दी सलाह

नई दिल्ली। चीन के साथ तनातनी के बीच राहुल गांधी ने एक बार फिर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। वो कहते हैं कि अगर मार्च 2020 के पहले के हालात को ही बहाल करने पर बात होनी चाहिए उसके अतिरिक्त किसी तरह की बातचीत बेकार है।वो कहते हैं कि बड़ी बात यह है कि पीएम मोदी कभी यह नहीं कहते हैं कि वो चीन को भारत की जमीन से खदेड़ने की तैयारी में जुटे हुए हैं। यह बात अलग है कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष शरद पवार ने भी कहा कि चीन की सीमा पर जो कुछ भी हो रहा है उसके बारे में सरकार को विस्तार से बताना चाहिए। यह एक बहुत संवेदनशील मामला बताते हुए और किसी को भी अनावश्यक टिप्पणी से बचने की जरूरत है। 

बाकी बातचीत तो बेकार है
वायनाड से कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने चीन के साथ लगातार हो रही बातचीत की प्रासंगिकता पर भी सवाल उठाया। राहुल गांधी ने कहा चीन के साथ सिर्फ और सिर्फ मार्च 2020 से पहले की यथास्थिति की बहाली पर होनी चाहिए। प्रधानमंत्री और भारत सरकार हमारी जमीन से चीन को बाहर खदेड़ने की जिम्मेदारी लेने से इनकार कर रहे हैं। बाकी सारी बातचीत तो बेकार है।'

पवार ने भी दी सलाह
शरद पवार ने कहा कि भारत चीन सीमा पर, खासकर लद्दाख में जो कुछ भी हो रहा है, सरकार को उस पर विस्तृत जानकारी देने की आवश्यकता है। रक्षा मामलों की स्थायी संसदीय समिति की बैठक में वो शामिल हुए थे। उन्होंने कहा कि चर्चा के लिए रक्षा संबंधित अन्य विषय भी हैं ।'भारत चीन सीमा पर, विशेषकर लद्दाख क्षेत्र में जो कुछ भी हो रहा है उसके बारे में हम सभी चिंतित हैं। रक्षा संबंधित विभिन्न विषय हैं, जिन पर बैठक में चर्चा होगी। वो अनुरोध करेंगे कि जमीनी हालात पर सरकार यह बताए कि आखिर लद्दाख के पूर्वी सेक्टर में क्या हो रहा है, देश की जनता को इस बारे में जानने का हक है। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर