Rahul Gandhi: राहुल गांधी का केंद्र पर हमला, कहा- तानाशाह सरकार के खिलाफ एक और 'करो या मरो' जैसे आंदोलन की जरूरत

देश
भाषा
Updated Aug 08, 2022 | 18:44 IST

Rahul Gandhi: कांग्रेस नेता ने एक फेसबुक पोस्ट में कहा, ‘‘इतिहास का वो पन्ना जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता - 'भारत छोड़ो’ आंदोलन। 8 अगस्त 1942 को मुंबई से शुरू हुए इस आंदोलन ने अंग्रेजों की नींद उड़ा दी थी।

Rahul Gandhi attack on Centre said need for another do or die movement against the dictatorial government
कांग्रेस सांसद राहुल गांधी। (File Photo)  |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • राहुल गांधी का केंद्र सरकार पर हमला
  • तानाशाही, महंगाई और बेरोजगारी को भारत छोड़ना ही होगा- राहुल गांधी
  • देश में एक और 'करो या मरो' जैसे आंदोलन की जरूरत- राहुल गांधी

Rahul Gandhi: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ की वर्षगांठ पर सोमवार को कहा कि मौजूदा ‘तानाशाह सरकार’ के खिलाफ और देश की रक्षा के लिए एक और ‘करो या मरो’ जैसे आंदोलन की जरूरत है। उन्होंने ये भी कहा कि तानाशाही, महंगाई और बेरोजगारी को भारत छोड़ना ही होगा।

तानाशाही, महंगाई और बेरोजगारी को भारत छोड़ना ही होगा- राहुल गांधी

कांग्रेस नेता ने एक फेसबुक पोस्ट में कहा, ‘‘इतिहास का वो पन्ना जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता - 'भारत छोड़ो’ आंदोलन। 8 अगस्त 1942 को मुंबई से शुरू हुए इस आंदोलन ने अंग्रेजों की नींद उड़ा दी थी। अगस्त की उस शाम को मुंबई के गोवालिया टैंक मैदान में लोगों ने जुटना शुरू किया, गांधी जी ने 'करो या मरो' का नारा दिया और बस हिंदुस्तान में अंग्रेजी हुकूमत का आखिरी अध्याय शुरू हो गया।’’

RSS को 'देशद्रोही' बता घिरे राहुल गांधी, BJP ने पूछा-कांग्रेस बताए वह तिरंगे का सम्मान करती है या नहीं

राहुल गांधी के अनुसार, ‘‘अपनी जिंदगी की परवाह किए बगैर लाखों देशवासी इस आंदोलन में कूद पड़े, इस आंदोलन में लगभग 940 लोग शहीद हुए और हजारों गिरफ्तारियां हुईं। आज भारत छोड़ो आंदोलन की वर्षगांठ पर मैं उन स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि देता हूं, जिन्होंने देश की आजादी के लिए अपने प्राणों की आहुति दी थी।’’

दिल्ली के हेराल्ड हाउस में ED की रेड, सोनिया-राहुल से पूछताछ के बाद देश भर में छापे

एक और 'करो या मरो' जैसे आंदोलन की जरूरत- राहुल गांधी

उन्होंने कहा, ‘‘आज हिंदुस्तान की तानाशाह सरकार के खिलाफ और देश की रक्षा के लिए एक और 'करो या मरो' जैसे आंदोलन की जरूरत है, अब समय आ गया है जब, अन्याय के खिलाफ, बोलना ही होगा। तानाशाही, महंगाई और बेरोजगारी को भारत छोड़ना ही होगा।’’ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने देश में बेरोजगारी बढ़ने से संबंधित एक ग्राफ का हवाला देते हुए ट्वीट किया, ‘‘जरूरत: घर-घर रोजगार। असलियत: हर घर बेरोजगार।’’

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
ET Now
ET Now Swadesh
Mirror Now
Live TV
अगली खबर