VIDEO: भारतीय सरहद में आते ही नौसेना के युद्धपोत ने किया राफेल का स्वागत, हुई दिलचस्प बातचीत

देश
प्रभाष रावत
Updated Jul 29, 2020 | 15:07 IST

Indian Navy warship and Rafale chat: समुद्र के ऊपर नौसेना के नियंत्रण वाले भारतीय इलाके में आने के बाद भारतीय युद्धपोत आईएनएस कोलकाता से राफेल लड़ाकू विमान की दिलचस्प बातचीत हुई है।

Rafale Fighter Jet
राफेल लड़ाकू विमान (फाइल फोटो/डसॉल्ट एविएशन) 

मुख्य बातें

  • नौसेना ने किया राफेल लड़ाकू विमानों का स्वागत
  • भारतीय समुद्री क्षेत्र में आने पर हुआ राफेल विमानों से संपर्क
  • लड़ाकू विमान और समुद्री युद्धपोत के बीच हुई दिलचस्प बातचीत

नई दिल्ली: भारतीय वायुसेना का राफेल लड़ाकू विमान लंबे इंतजार के बाद आखिरकार भारतीय जमीन पर लैंड होने वाला हैं। फ्रांस की ओर से 5 लड़ाकू विमानों की खेप को भेजा गया है और इस बीच भारत के नियंत्रण वाले क्षेत्र में आते ही कुछ ऐसा हुआ जो हर भारतीय के लिए बेहद दिलचस्प था। जब अरब सागर से भारतीय लड़ाकू विमान अंबाला की ओर बढ़ रहे थे और यहां समुद्र में तैनात नौसेना के युद्धपोत से राफेल के पायलट की बातचीत रेडियो पर हुई।

रिपोर्ट्स के अनुसार आसमान से गुजरते हुए आईएनएस कोलकाता से राफेल का संपर्क हुआ। राफेल पायलट से संपर्क साधते हुए नौसैन्य पोत और 5 विमानों के समूह का नेतृत्व कर रहे राफेल पायलट के बीच दिलचस्प बातचीत हुई।

आईएनएस कोलकाता: भारतीय महासागर क्षेत्र में आपका स्वागत है।

राफेल पायलट: आपका धन्यवाद। समुद्री सीमा की हिफाजत कर रही भारतीय नौसेना की मौजूदगी बहुत आश्वस्त करने वाली है।

आईएनएस कोलकाता: आप गर्व से आसमान की ऊंचाईंयों को छुएं (May You Touch the Sky with Glory)। हैप्पी लैडिंग।
(Touch the Sky with Glory- यह वायुसेना का आदर्श वाक्य है।)

राफेल पायलट: धन्यवाद। आपको भी शुभकामनाएं (फेयर विंड्स, हैप्पी हंटिंग)।

यहां आप यह बातचीत सुन सकते हैं।

गौरतलब है कि राफेल भारतीय वायुसेना की क्षमता को एक बड़ी बढ़त देने जा रहा है। यह विमान बेहद खातक मीटियोर और स्काल्प मिसाइलों के साथ हैमर प्रिशीजन गाइडेड म्युनेशन जैसे हथियार से लैस होगा जो भारत को चीन और पाकिस्तान दोनों पर एक अहम बढ़त प्रदान करेगा। बेहद आधुनिक तकनीक वाले उपकरणों से लैस है और फ्रांस की ओर से युद्ध में कई बार अपनी क्षमता का लोहा मनवा चुका है।

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर