Power cut in Punjab: पंजाब में पावर कट ने बढ़ाई सियासी गर्मी, सिद्धू ने कैप्टन को घेरा, BJP का भी पलटवार

पंजाब में बिजली संकट गहराने से राजनीतिक दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला शुरू हो गया है। नवजोत सिंह सिद्धू ने कैप्टन अमरिंदर सिंह पर निशाना साधा है तो भाजपा ने कांग्रेस पर सवाल उठाए हैं।

  Power cut in Punjab Sidhu targets captain Amrinder SAD BSP protests on road
पंजाब में पावर कट ने बढ़ाई सियासी गर्मी। 

मुख्य बातें

  • पंजाब में मांग बढ़ने से राज्य में बिजली संकट गहरा गया है
  • राज्य के कई इलाकों में हो रही 10 से 12 तक की कटौती
  • भाजपा, शिअद-बसपा ने कैप्टन अमरिंदर सिंह पर निशाना साधा

चंडीगढ़ : पंजाब में गहराए बिजली संकट ने शुक्रवार को बड़ा रूप ले लिया। बेतहाशा गर्मी एवं उमस के बीच राज्य में बड़े पैमाने पर बिजली की कटौती की जा रही है। बिजली की मांग कम करने के लिए कैप्टन अमरिंदर सरकार ने राज्य सरकार के कार्यालयों की काम करने की अवधि कम करने और ज्यादा खपत वाले उद्योगों में बिजली कटौती का आदेश दिया है। मुख्यमंत्री ने सरकारी कार्यालयों से कहा है कि वे बिजली की विवेकपूर्ण खपत करें। राज्य में गहराए इस बिजली संकट पर सियासी वार-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। 

राज्य में बिजली की मांग बढ़ी
राज्य के पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने मुख्यमंत्री अमरिंदर पर निशाना साधा है। बिजली कटौती के खिलाफ शिरोमणि अकाली दल (SAD) और बहुजन समाज पार्टी (BSP) के नेता एवं कार्यकर्ता सड़क पर उतरे हैं। भाजपा ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा है कि ऐसा हाल केवल पंजाब में नहीं बल्कि राजस्थान एवं छत्तीसगढ़ में भी है। बढ़ती गर्मी की वजह से राज्य में बिजली की मांग काफी बढ़ गई है। गुरुवार को यह मांग 14,500 मेगावाट की रही। इसकी वजह से बिजली की आपूति में 1,330 मेगावाट की कमी रही। 

मोहाली में 14 घंटे से ज्यादा बिजली कटौती
मोहाली के कई इलाकों में पिछले 24 घंटे में 14 घंटे से ज्यादा बिजली की कटौती हुई है। पटियाला एवं भटिंडा में सात घंटे से ज्यादा जबकि कपूरथला, तरनतारन, फिरोजपुर, मुख्तसर एवं लुधियान में छह से बारह घंटे तक बिजली की कटौती हुई है। राज्य के ग्रामीण इलाकों में बिजली कटौती का सबसे ज्यादा प्रभाव पड़ा है। धान की बुवाई के समय किसानों को बिजली की जरूरत है लेकिन उन्हें पर्याप्त बिजली नहीं मिल पा रही है। इसके चलते उनमें राज्य सरकार के प्रति नाराजगी है। 

कैप्टन अमरिंदर पर सिद्धू का निशाना
राज्य में उपजे बिजली संकट पर कांग्रेस नेता सिद्धू ने शुक्रवार को सीएम कैप्टन अमरिंदर पर हमला बोलने में देरी नहीं की। उन्होंने सिलसिलेवार ट्ववीट करके राज्य सरकार की नीतियों पर सवाल खड़े किए। 

शिअद-बसपा का प्रदर्शन
राज्य में जारी बिजली संकट पर शिअद और बसपा ने अमरिंदर सरकार पर निशाना साधा। रोपड़ में शिअद और बसपा कार्यकर्ता बिजली कटौती के खिलाफ सड़क पर उतरे और हाथ से बने पंखे चलाकर अपना विरोध जताया। 

अमित मालवीय ने कांग्रेस को घेरा
भाजपा के आईटी सेल के प्रभारी अमित मालवीय ने कहा कि पंजाब में 'पावर की लड़ाई में राज्य पवार लेस हो गया है।' भाजपा नेता ने कहा कि पंजाब जैसा हाल राजस्थान और छत्तीसढ़ में भी है। 

'कांग्रेस के शासन में पंजाब की हालत बुरी'
शिअद नेता हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि कांग्रेस के शासन में पंजाब की हालत बुरी हो गई है। राज्य में 10 से 12 घंटे तक बिजली की कटौती हो रही है। किसानों की फसल बर्बाद हो रही है। वे बिजली कटौती के खिलाफ सड़क पर हैं।  


 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times Now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़, Facebook, Twitter और Instagram पर फॉलो करें.

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर