केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल की संभावना, पीएम नरेंद्र मोदी से मिले अमित शाह और जेपी नड्डा

यूपी पर मंथन के बीच पीएम नरेंद्र मोदी से गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा ने मुलाकात की। इसे केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल के तौर पर भी देखा जा रहा है।

Possibility of reshuffle in Union Cabinet, Narendra Modi, JP Nadda, Amit Shah, Farmers' Movement, UP Assembly Election 2022
केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल की संभावना, पीएम नरेंद्र मोदी से मिले अमित शाह और जेपी नड्डा  |  तस्वीर साभार: IANS

मुख्य बातें

  • दिल्ली में पीएम नरेंद्र मोदी की गृहमंत्री अमित शाह और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा से खास मुलाकात
  • केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल की जताई जा रही है संभावना
  • यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने पीएम नरेंद्र मोदी और जेपी नड्डा से की थी खास मुलाकात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार शाम केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से उनके आवास 7, लोक कल्याण मार्ग पर मुलाकात की। केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल की अटकलों के बीच उच्च स्तरीय बैठक हो रही है।टाइम्स नाउ की समूह संपादक (राजनीति) नविका कुमार ने पहले बताया था कि पीएम आज शाम से शुरू होने वाले अभ्यास पर मूल्यांकन बैठकें और परामर्श शुरू करने के लिए तैयार हैं।

मंत्रियों के कामकाज की समीक्षा
बताया गया कि पीएम के साथ बैठक के दौरान मौजूदा मंत्रियों के प्रदर्शन की समीक्षा की जाएगी और उनके विचारों को भी आगे की राह पर ले जाया जाएगा। इस तरह की मीटिंग के लिए दो कारणों को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। सबसे पहले, बहुत से मंत्री कई विभागों को संभाल रहे हैं और उनके कुछ भार को दूर करने की आवश्यकता महसूस की गई है। इसके अलावा, राजनीतिक रूप से संवेदनशील उत्तर प्रदेश सहित अगले साल महत्वपूर्ण विधानसभा चुनावों से पहले केंद्रीय मंत्रिमंडल में सहयोगियों को अधिक प्रतिनिधित्व देने की आवश्यकता महसूस की जा रही है।

कोविड काल में उपजे असंतोष को कम करना
COVID-19 महामारी की दूसरी लहर के बाद आने वाली सरकार के लिए छवि बदलाव के हिस्से के रूप में भी अभ्यास किया जा सकता है, जिसने स्थिति से निपटने के लिए सरकार की हर तरफ से आलोचना की। बताया जा रहा है कि सरकार और पार्टी में इस बात पर गहरी चिंता है कि कोरोना की दूसरी लहर में सरकार के खिलाफ लोगों में असंतोष है और उस कड़वाहट को किस तरह से कम किया जा सके उस पर चिंतन मंथन जरूरी है।

पिछले 2 वर्ष में कैबिनेट में नहीं हुआ है बदलाव
यह ध्यान देने वाली बात है कि मोदी 2.0 कैबिनेट ने मई 2019 में लगातार दूसरी बार सत्ता में आने के बाद से कोई फेरबदल नहीं देखा है। सूत्रों ने कहा कि अर्थव्यवस्था के कई क्षेत्रों को कायाकल्प की जरूरत है और केंद्रीय मंत्रिपरिषद के पुनर्गठन की आवश्यकता हो सकती है। अत्यधिक आवश्यक प्रोत्साहन प्रदान करें।ऐसी भी अटकलें हैं कि बैठक उत्तर प्रदेश पर चर्चा के लिए भी हो सकती है, जहां अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले योगी आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल में फेरबदल की भी अटकलें हैं।योगी ने पिछले दो दिनों में दिल्ली में तीनों नेताओं - पीएम मोदी, शाह और नड्डा से मुलाकात की है।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर