आज ओडिशा, पश्चिम बंगाल का दौरा करेंगे पीएम मोदी, चक्रवात यास से हुए नुकसान की समीक्षा करेंगे

देश
Updated May 28, 2021 | 06:00 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Cyclone yaas: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चक्रवात यास के कारण हुए नुकसान की समीक्षा के लिए आज ओडिशा, पश्चिम बंगाल का दौरा करेंगे।

cyclone yaas
चक्रवात यास  |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • चक्रवात यास: पीएम मोदी ने जल्द सामान्य जनजीवन की बहाली के निर्देश दिए
  • आज ओडिशा और पश्चिम बंगाल का दौरा करेंगे मोदी
  • चक्रवात यास से ओडिशा में 3 की और पश्चिम बंगाल में 1 की जान गई

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज ओडिशा और पश्चिम बंगाल का दौरा करेंगे। प्रधानमंत्री चक्रवाती तूफान 'यास' के व्‍यापक प्रभावों का आकलन करने के लिए इन दोनों राज्यों में आयोजित की जाने वाली समीक्षा बैठकों की अध्यक्षता करेंगे। प्रधानमंत्री इसके साथ ही इन दोनों राज्यों में चक्रवाती तूफान से प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण भी करेंगे।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री सबसे पहले ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर पहुंचेंगे जहां वह एक समीक्षा बैठक करेंगे। इसके बाद वह ओडिशा के बालासोर और भद्रक तथा पश्चिम बंगाल के पूर्वी मिदनापुर जिलों के प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे। दिल्ली लौटने से पहले प्रधानमंत्री पश्चिम बंगाल में एक समीक्षा बैठक करेंगे।

तूफान से 4 की मौत

चक्रवाती तूफान के बुधवार को देश के पूर्वी तटों से टकराने के बाद भारी बारिश हुई। चक्रवात के दौरान 145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तूफानी हवाएं चलने से कई मकान क्षतिग्रस्त हो गये, खेतों में पानी भर गया। चक्रवात से जुड़ी घटनाओं में चार लोगों की मौत हो गई। चक्रवात के कारण ओडिशा, पश्चिम बंगाल ओर झारखंड में 21 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। चक्रवात के कारण ओडिशा में तीन लोगों और पश्चिम बंगाल में एक व्यक्ति की मौत हो गई।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि त्रासदी में राज्य को करीब 15 हजार करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। बनर्जी ने चक्रवात प्रभावित क्षेत्र में राहत कार्यों के लिए 1,000 करोड़ रुपये आवंटित करते हुए कहा कि जरुरत होने पर और धन दिया जाएगा। 

पीएम मोदी ने की बैठक

इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को एजेंसियों को चक्रवात यास प्रभावित क्षेत्रों में जल्द से जल्द सामान्य जनजीवन बहाल करने में तेजी लाने का निर्देश दिया। एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता करते हुए चक्रवात यास के प्रभाव की समीक्षा करते हुए, प्रधानमंत्री ने चक्रवात से प्रभावित व्यक्तियों को राहत देने की आवश्यकता पर भी जोर दिया, जो एक डीप डिप्रेशन में कमजोर होकर उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ गया।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर