जिस पार्टी की सोच स्थिर ना हो वो क्या स्थिर सरकार देगी, करीमगंज में पीएम मोदी के निशाने पर कांग्रेस

पीएम नरेंद्र मोदी ने असम के करीमगंज रैली में कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि न नीति, न नीयत ने असम का विनाश कर दिया। पिछले पांच वर्षों में असम सरकार ने बेहतरीन काम किया है जिसे आगे बढ़ाने की जरूरत है।

Karimganj Rally: जिस पार्टी की सोच स्थिर ना हो वो क्या स्थिर सरकार देगी, करीमगंज में पीएम मोदी के निशाने पर कांग्रेस
असम के करीमगंज में कांग्रेस पर बरसे पीएम नरेंद्र मोदी 

मुख्य बातें

  • असम के करीमगंज में पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस के पास ना नीति और ना नीयत
  • बीजेपी के पास दिशा और नेतृ्त्व दोनों है, असम की बेहतरी के लिए असम सरकार प्रतिबद्ध
  • कांग्रेस ने उस पार्टी से हाथ मिलाया जिसे वो कुछ वर्षों पहले गाली देती थी।

गुवाहाटी। आज असम में विकास की लहर है, विश्वास की लहर है। आज असम में शांति का विश्वास है, समृद्धि का विश्वास है। आज असम में एक ही मुद्दा है- विकास, तेज विकास, निरंतर विकास, सबका विकास।मोदी ने कहा कि कांग्रेस सरकारों और उनकी नीतियों ने असम को सामाजिक, सांस्कृतिक, भौगोलिक और राजनीतिक, हर तरह से नुकसान पहुंचाया।कांग्रेस की सरकारें बराक वैली के लिए डिविजनल कमिश्नर गुवाहाटी से चलाती रहीं, ये कितना बड़ा अन्याय था। एनडीए सरकार ने इस अन्याय को दूर किया।

पीएम मोदी के निशाने पर कांग्रेस
पीएम मोदी ने कांग्रेस पर जमकर प्रहार किया। उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस असम को हर प्रकार से बांट कर रखा जबकि बीजेपी ने असम को हर प्रकार से जोड़कर रखने का प्रयास किया। पीएम ने कहा कि बराक-ब्रह्मपुत्र, पहाड़-भैयाम- हर क्षेत्र का एक समान विकास। सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास- यही बीजेपी का विकास मंत्र है।

आज कांग्रेस आज इतनी कमजोर हो गई है कि किसी भी हद तक जा सकती है, किसी के साथ भी हाथ मिला सकती है। ये विचित्र स्थिति आज पूरा देश देख रहा है। पश्चिम बंगाल में जिन वामपंथियों के साथ वो लाल-सलाम कर रहे हैं, उन्हीं के साथ केरल में नूरा-कुश्ती चल रही है। एक राज्य में जिसे गाली देते हैं, दूसरे राज्य में उसे गले लगाते हैं। जिस पार्टी की सोच ही स्थिर न हो, वो क्या असम में स्थिर सरकार दे पाएगी?

देखिए, असम में किसके भरोसे है कांग्रेस
असम में देखिए, कांग्रेस किसके भरोसे मैदान में है? जिन लोगों की राजनीति से यहां के कांग्रेस कार्यकर्ता दशकों से लड़ रहे हैं, जूझ़ रहे हैं, आज कांग्रेस का हाथ उसी ताला-चाबी को लेकर घूम रहा है। यहां असम में भी धोखे और भ्रम का एक वीडियो मैंने देखा है। इस वीडियो में यहां के कांग्रेस के नेता आपस में मंच पर ही, झूठ का घोषणापत्र बना रहे हैं। घोषणापत्र बनाने में बहुत मेहनत लगती है। इस वीडियो में वो अपनी कलई, अपना झूठ खुद खोल देते हैं। वो कहते हैं कि सिर्फ घोषणा कर दो, घोषणाएं पूरा करने के लिए नहीं होती हैं। ये कांग्रेस के नेता खुद कबूल कर रहे हैं। यही काम इन्होंने देशभर में किया है।

विकास गाथा का बखान
रैली में उपस्थित भीड़ से मुखातिब होते हुए पीएम ने कहा कि असम को मेघालय से जोड़ने के लिए इससे भी बड़े धुबरी-फूलबारी ब्रिज का निर्माण कौन करवा रहा है? बीजेपी की सरकार पूरा करा रही है। देश का सबसे लंबा रिवर रोपवे असम को किसने दिया? बीजेपी की सरकार ने दिया। क तरफ बीजेपी की नीति है, बीजेपी का नेतृत्व है और बीजेपी की नेक नीयत है। वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस है- जिसके पास ना तो नेता है, ना ही नीति है और ना ही विचारधारा है।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर