Lockdown 5.0? मुख्यमंत्रियों से बात करने के बाद पीएम मोदी से मिले शाह, आगे की रणनीति पर हुई चर्चा

खबरों के मुताबिक, कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच देशव्यापी लॉकडाउन को आगे बढ़ाने या नहीं बढ़ाने को लेकर कल फैसला लिया जा सकता है।

PM  Narednra Modi and Amit Shah meet over lockdown plan amid rising Covid-19 cases
मुख्यमंत्रियों से बात करने के बाद पीएम मोदी से मिले शाह 

मुख्य बातें

  • देश में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामलों की संख्या में लगातार हो रहा है इजाफा
  • केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुरुवार को की थी मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक
  • शुक्रवार को अमित शाह ने पीएम मोदी से की मुलाकात, आगे की रणनीति पर हुई चर्चा

नई दिल्ली: राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात करने के बाद शुक्रवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और उन्हें कोरोना की वजह से जारी राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के बारे में अवगत कराया। इस दौरान शाह ने मोदी को को मुख्यमंत्रियों के साथ टेलीफोन पर हुई अपनी बातचीत के दौरान मिले सुझावों और प्रतिक्रिया के बारे में बताया। खबरों की मानें तो बैठक में आगे की रणनीति को लेकर चर्चा की गई।

चार चरणो में हो चुका है लॉकडाउन

 देशव्यापी लॉकडाउन की पहली बार घोषणा मोदी ने 24 मार्च को 21 दिन के लिए कोरोना वायरस के प्रसार पर रोक के उद्देश्य से की थी। इसे पहली बार तीन मई तक और उसके बाद फिर 17 मई तक बढ़ाया गया था। लॉकडाउन को बाद में 31 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया था। गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्रियों के साथ टेलीफोन पर बातचीत लॉकडाउन का चौथा चरण समाप्त होने के मात्र तीन दिन पहले की।

राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ कर चुके हैं बातचीत

पीटीआई के मुताबिक मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत के दौरान शाह ने यह जानना चाहा कि राज्यों की क्या चिंताएं हैं और एक जून से वे किन क्षेत्रों को खोलना चाहते हैं। अभी तक प्रत्येक लॉकडाउन चरण के विस्तार से पहले मुख्यमंत्रियों के साथ मोदी वीडियो कान्फ्रेंस के जरिये संवाद करते रहे हैं और उनके विचार जानते रहे हैं। ऐसा पहली बार हुआ कि गृह मंत्री ने लॉकडाउन के एक और चरण की समाप्ति से पहले मुख्यमंत्रियों के साथ अलग अलग बातचीत की।

एक दो दिन में लिया जा सकता है फैसला

एक अन्य अधिकारी ने बताया कि प्रधानमंत्री के साथ मुख्यमंत्रियों की सभी वीडियो कान्फ्रेंस में शाह मौजूद रहे हैं। ऐसा समझा जाता है कि अधिकतर मुख्यमंत्री चाहते हैं कि लॉकडाउन कुछ रूप में जारी रहे लेकिन साथ ही उन्होंने आर्थिक गतिविधियां बहाल होने और सामान्य जनजीवन चरणबद्ध तरीके से पटरी पर लौटने का पक्ष लिया है।उम्मीद है कि केंद्र सरकार लॉकडाउन को लेकर अपने निर्णय की घोषणा अगले दो दिनों में करेगी।

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर