WDFC: दुनिया की पहली डबल स्टैक लॉन्ग हॉल कंटेनर ट्रेन पटरी पर, PM मोदी ने दिखाई हरी झंडी

बिजली से चलने वाली 1.5 किलोमीटर लंबी दुनिया की पहली डबल स्टैक लॉन्ग हॉल कंटेनर ट्रेन को पीएम हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। यह ट्रेन न्यू अटेली-न्यू किशनगंज के लिए रवाना हुई।

PM Modi To Inaugurate 306 Km Freight Corridor Stretch On January 7
दुनिया की पहली डबल स्टैक लॉन्ग हॉल कंटेनर ट्रेन को PM मोदी दिखायी हरी झंडी।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • डबल स्टैक लॉन्ग कंटेनर ट्रेन पटरी पर,PM ने दिखाई हरी झंडी
  • वेस्टर्न डेडीकेटेड कॉरिडोर का औपचारिक उद्घाटन
  • रेवाड़ी- न्यू मदार सेक्शन देश को समर्पित

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर (WDFC) के 306 किलोमीटर लंबे न्यू रेवाड़ी-न्यू मडार खंड का उद्घाटन किया। इस मौके पर बिजली से चलने वाली 1.5 किलोमीटर लंबी दुनिया की पहली डबल स्टैक लॉन्ग हॉल कंटेनर ट्रेन को पीएम मोदी ने न्यू अटेली-न्यू किशनगंज के लिए हरी झंडी दिखाकर रवाना भी किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि देश को गति मिली है। उन्होंने कहा  कि नए भारत को इसी तरह का विकास चाहिए। ना हम रुकेंग, ना ही थकेंगे। नए भारत के सपने को सच करेंगे। 

देश को अब ऐसे ही विकास की जरूरत
रेवाड़ी- मदार सेक्शन के लोकर्पण के मौके पर कहा कि अब मालगाड़ियां भी तीन गुनी गति से चलने लगी हैं। देश को अब ऐसी ही गति का विकास चाहिए। कॉरिडोर को गेमचेंजर के तौर पर देखा जा रहा है। एनसीआर, हरियाणा और राजस्थान के लिए उम्मीद की किरण जगी है। कॉरिडोर से उद्योगों को नई गति मिलेगी। उन्होंने कहा कि इस समर्पित रेल गलियारे से खेती से जुड़े व्यापार भी आसान होंगे। 

वेस्टर्न डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर देश को समर्पित

  1. इस कॉरीडोर का इस्तेमाल विशेष रूप से मालगाड़ियों के लिए किया जाएगा।
  2. इस रूट पर मालगाड़ियां अधिकतम 100 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चलेंगी।
  3. इससे क्षेत्र की लॉजिस्टिक संरचना एवं मालवहन के आकार एवं संख्या में वृद्धि होगी।
  4. यह कॉरीडोर मल्डी मोडल लॉजिस्टिक हब्स एवं दिल्ली-मुंबई उद्योग कॉरीडोर को उत्तर भारत के साथ जोड़ेगा।

भारत में पहली बार

  1. देश में यह पहली बार होगा जब 25 टन एक्सल लोड के साथ हेवी हॉल ट्रेन का परिचालन होगा।
  2. इस मालवाह ट्रेन के डिब्बे मौजूदा डिब्बों की क्षमता से चार गुना ज्यादा माल का वहन करेंगे।
  3.  प्रत्येक डिब्बे में ज्यादा वजन की क्षमता होने से ट्रांसपोरटेशन लागत में कमी आएगी।
  4. इस ट्रेन से बंदरगाहों पर तय समय में माल की डिलीवरी हो सकेगी और वहां से माल तेजी से निकाला जा सकेगा। 

विश्व की उत्तम चीजों की बराबरी जरूरी
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमें विश्व से उत्तम चीजों की बराबरी करनी होगी। डबल डेकर का बनाया जाना उसी दिशा में बड़ी कामयाबी है। दुनिया के अलग अलग मुल्कों का भारत पर भरोसा बढ़ रहा है। जिस दिशा में हम आगे बढ़ रहे हैं उससे जीवन आसान हुआ है। बड़े उद्योगों के लिए भी मार्ग आसान हुआ है। जापान का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि वो हमेशा भारत का सहयोगी रहा है। वो दिन दूर नहीं जब देश का कोना कोना रेल नेटवर्क से पूरी तरह जुड़ जाएगा। कोरोना काल में रेल कर्मचारियों ने बेहतरीन काम किया है। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर