तमिलनाडु-केरल की चुनावी रैलियों में कांग्रेस, डीएमके और लेफ्ट पर बरसे PM मोदी  

देश
भाषा
Updated Apr 02, 2021 | 23:40 IST

पीएम मोदी ने कहा, 'अलग से एक मंत्रालय मछुआरों के मुद्दे को देख रहा है। द्रमुक समर्थित संप्रग ने मछुआरों को उनके हाल पर छोड़ दिया था। मैंने मछुआरों को आश्वासन दिया कि उनकी सुरक्षा राजग की प्राथमिकता है।'

PM Modi targets Congress, Left, DMK in poll-bound Tamil Nadu, Kerala
कांग्रेस, डीएमके और लेफ्ट पर बरसे PM मोदी।  |  तस्वीर साभार: ANI

कन्याकुमारी : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कांग्रेस पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि यह ऐसी अहंकारी पार्टी है, जो स्थानीय संवेदनाओं को नहीं समझती। प्रधानमंत्री ने साथ ही यह भी दावा किया कि उनकी सरकार लोगों की सेवा करने के मामले में जाति या धर्म नहीं देखती है। मोदी ने तमिलनाडु के कन्याकुमारी में चुनावी रैली के दौरान मछुआरों के हितों का संरक्षण करने का संकल्प जताते हुए कहा कि अब कोई भी तमिल मछुआरा श्रीलंका की हिरासत में नहीं है। उन्होंने कन्याकुमारी लोकसभा सीट पर छह अप्रैल को होने वाले उप चुनाव में पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा उम्मीदवार पोन राधाकृष्णन को वोट देने की जनता से अपील की।

'संप्रग ने मछुआरों को उनके हाल पर छोड़ा'
मोदी ने कहा, 'अलग से एक मंत्रालय मछुआरों के मुद्दे को देख रहा है। द्रमुक समर्थित संप्रग ने मछुआरों को उनके हाल पर छोड़ दिया था। मैंने मछुआरों को आश्वासन दिया कि उनकी सुरक्षा राजग की प्राथमिकता है।' उन्होंने कहा, 'हमने हाल ही में श्रीलंका की हिरासत से मछुआरों की रिहाई सुनिश्चित की। इनमें 40 मछुआरे और तमिलनाडु की पांच नाव शामिल थीं। वर्तमान में कोई भी भारतीय मछुआरा श्रीलंका की हिरासत में नहीं है।' प्रधानमंत्री ने कहा कि जहां उनकी पार्टी एवं सरकार विकास पर ध्यान केंद्रित करती है, वहीं, विपक्ष ने खुद को वंशवाद के घेरे तक सीमित कर लिया है।

उदयनिधि पर कसा तंज
उन्होंने कहा, 'वे सभी अपने बच्चों, पोते-पोतियों के लिए जगह सुनिश्चित करना चाहते हैं और उन्हें आपके बेटे-बेटियों की कोई फिक्र नहीं है।' मोदी ने कहा कि द्रमुक में हालात ऐसे थे कि पार्टी के संरक्षक दिवंगत एम करुणानिधि के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कार्य करने वाले वरिष्ठ नेता पार्टी के ''नए शहजादे'' (द्रमुक युवा शाखा के सचिव उदयनिधि स्टालिन) के चलते घुटन महसूस कर रहे हैं। उदयनिधि द्रमुक अध्यक्ष एम के स्टालिन के बेटे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा, 'राजनीति इस तरह नहीं होती। आज देश का मिजाज स्पष्ट तौर पर भाई-भतीजावाद और अधिकारवाद की राजनीति के खिलाफ है।' उन्होंने कहा कि विपक्ष लोगों को लोकतंत्र-विरोधी कहना पसंद करता है लेकिन उन्हें स्वयं आईना देखना चाहिए।

कांग्रेस पर अनुच्छेद 356 का दुरुपयोग करने का आरोप
मोदी ने कहा कि मध्य दिल्ली में एक 'वंश' से संबंधित व्यक्ति के स्मारक के लिए 'कीमती संपत्ति' दी गई जबकि उनकी सरकार ने तमिलनाडु में पूर्व राष्ट्रपति ए पी जे अब्दुल कलाम का स्मारक बनाया। उन्होंने रैली के दौरान कहा कि कांग्रेस ने कई बार अनुच्छेद 356 लगाया है। द्रमुक और अन्नाद्रमुक, दोनों ही सरकारों को पूर्व में कांग्रेस द्वारा बर्खास्त किया गया है। उन्होंने आरोप लगाया कि किसी भी गठबंधन में कांग्रेस का होना एक ऐसे अहंकारी सहयोगी की तरह है, जो स्थानीय संवेदनाओं को नहीं समझता है।

'हम किसानों को लेकर संवेदनशील'
प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हमारी विचारधारा सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास है और इस मंत्र के मूल में सभी के प्रति करुणा की भावना है।’ उन्होंने कहा, ‘हमारी सरकार लोगों की सेवा करने से पहले उनकी जाति, पंथ या धर्म नहीं देखती है। हमारी सरकार सभी के लिए है।’ वहीं, कृषि क्षेत्र को लेकर कई कार्य करने का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘हम किसानों की आय दोगुनी करने के रास्ते पर जा रहे हैं।’ मोदी ने कहा कि उनकी सरकार किसानों की मांगों को लेकर संवेदनशील है, इसलिए कृषि क्षेत्र का आधुनिकीकरण किया जा रहा है।

एलडीएफ-यूडीएफ कुशासन, भ्रष्टाचार में एक समान हैं: PM
तिरुवनंतपुरम : केरल में सत्तारूढ़ वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (एलडीएफ) और कांग्रेस नीत विपक्षी संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चा (यूडीएफ) पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि दोनों ही मोर्चे कुशासन, भ्रष्टाचार और राजनीतिक हिंसा के मामले में एक समान हैं। केरल में शुक्रवार को अपनी दूसरी चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, 'यूडीएफ और एलडीएफ जुड़वा हैं। वे कुशासन, भ्रष्टाचार, राजनीतिक हिंसा, सांप्रदायिकता, जातिवाद और भाई-भतीजावाद आदि मामलों में एक समान हैं।'

करीब आ रहे कांग्रेस-वामदल
पश्चिम बंगाल में वाम दलों और कांग्रेस के बीच हुए गठबंधन का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, 'पश्चिम बंगाल में राजनीतिक तस्वीर सभी के लिए एकदम साफ है। हर चुनाव के बाद कांग्रेस और वाम दल करीब आ रहे हैं। इस नजदीकी के बाद तथ्यात्मक कदम कांग्रेस और वाम का पूर्ण विलय है। वे इस नए दल को सीसीपी- कामरेड कांग्रेस पार्टी- कह सकते हैं।' मोदी ने कहा, 'क्योंकि वे जुड़वा हैं इसलिए यूडीएफ में एलडीएफ को परास्त करने का सामर्थ्य एवं इच्छाशक्ति नहीं है। इसमें कोई आश्चर्य नहीं है कि राजग के समर्थन में इजाफा हुआ है।' इससे पहले दिन में प्रधानमंत्री ने पथनमथिट्टा जिले के कोनी में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए भी दोनों मोर्चों पर प्रहार किए थे।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर