मुख्यमंत्री गहलोत की गुहार-सभी सीएम के साथ कम से कम दो दिन बैठक करें पीएम मोदी

Ashok Gehlot : राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आरोप लगाया है कि विधानसभा का सत्र बुलाए जाने की घोषणा होने के बाद राज्य में हॉर्स ट्रेडिंग का रेट और बढ़ गया है। कोरोना पर पीएम मोदी को बैठक करनी चाहिए।

PM Modi should stop the tamasha in Rajasthan: Ashok Gehlot
गहलोत ने कहा कि राज्य में जारी तमाशे पर पीएम को रोक लगानी चाहिए।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • राजस्थान में पिछले कुछ दिनों से जारी है राजनीतिक संकट
  • सचिन पायलट गुट ने अख्तियार किए हैं बगावती तेवर
  • कांग्रेस विधायक जयपुर होटल से जैसलमेर के होटल पहुंचे

जैसलमेर : राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध करेंगे कि वह विभिन्न राज्यों में कोरोना वायरस की स्थिति के बारे में जानकारी पाने के लिए मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कम से कम दो दिनों की बैठक करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि जुलाई महीने में राजस्व के संग्रह में आई कमी को लेकर उनकी सरकार चिंतित है। मुख्यमंत्री ने राज्य में 'हॉर्स ट्रेडिंग' के जोर पकड़ने का आरोप लगाया है। 

गहलोत ने कहा, 'पीएम मोदी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पिछली बैठक गत 17 जून को हुई थी। मैं पीएम को पत्र लिखूंगा और उनसे अनुरोध करूंगा कि वे सभी मुख्यमंत्रियों के साथ कम से कम दो दिन बात करें ताकि सभी को अपनी बात रखने का मौका मिले। इससे उन्हें प्रत्येक राज्य की कोविड-19 की स्थिति के बारे में जानकारी मिलेगी। इससे राज्यों को क्या मदद देनी चाहिए इस बारे में भी पता चलेगा।'

'तमाशे' को बंद कराएं पीएम
गहलोत ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को राज्य में जारी 'तमाशे' को बंद कराना चाहिए। यहां मीडियाकर्मियों से बातचीत में गहलोत ने आरोप लगाया कि 'हॉर्स ट्रेडिंग का रेट अब बढ़ गया है।' गहलोत ने कहा, 'देश के प्रधानमंत्री के रूप में नरेंद्र मोदी जी को राजस्थान में जारी तमाशे को बंद कराना चाहिए।' मुख्यमंत्री ने कहा कि विधानसभा के सत्र के तिथि की घोषणा जब से हुई है तब से रेट और बढ़ा दिया गया है। यह क्या तमाशा है?' मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को नैतिक आधार पर अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

शेखावत को दे देना चाहिए इस्तीफा-गहलोत
उन्होंने कहा, 'संजीवनी कोऑपरेटिव सोसायटी के कथित घोटाले में गजेंद्र सिंह शेखावत का नाम आया है। एक अदालत ने इस मामले में निर्देश भी जारी किए हैं। केंद्रीय मंत्री को नैतिक आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए।' गहलोत ने आगे आरोप लगाते हुए कहा कि 'हॉर्स ट्रेडिंग का भाजपा का खेल काफी बड़ा है। उनके मुंह खून लग चुका है। इन्होंने हॉर्स ट्रेडिंग कर्नाटक और मध्य प्रदेश में की है। अब ये इसे यहां आजमाना चाहते हैं।' मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय हॉर्स ट्रेडिंग में संलिप्त है। 

गृह मंत्रालय पर गहलोत ने लगाए गंभीर आरोप 
उन्होंने कहा, 'समूचा गृह मंत्रालय इस काम में जुटा है। पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान जैसे कई मंत्री हॉर्स ट्रेडिंग के काम में लगे हैं।' बता दें कि गहलोत गुट के विधायकों को जयपुर से जैसलमेर के सूर्यागढ़ होटल में रखा गया है। मुख्यमंत्री का कहना है कि बाहरी दबावों से मुक्त रखने के लिए विधायकों को यहां पर रखा गया है।

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर