इंडिया- इटली वर्चुअल समिट में बोले पीएम मोदी, अब वर्ल्ड वार-2 नहीं, कोरोना काल का होगा जिक्र

देश
ललित राय
Updated Nov 06, 2020 | 17:45 IST

भारत-इटली आभासी समिट में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना काल को विभाजक क्षण के तौर पर याद किया जाएगा। हम सबको इससे उत्पन्न चुनौतियों का सामना करने के लिए रास्ते निकालने होंगे।

india italy virtual summit में पीएम नरेंद्र मोदी बोले,अब वर्ल्ड वार-2 नहीं, कोरोना काल का होगा जिक्र
इंडिया- इटली वर्चुअल समिट में पीएम नरेंद्र मोदी 

मुख्य बातें

  • इंडिया- इटली वर्चुअल समिट में पीएम मोदी बोले- कोरोना के खिलाफ इटली ने शानदार लड़ाई लड़ी
  • उम्मीद है कि कोरोना की समाप्ति के बाद इटली के सांसदों का भारत की संसद में वो स्वागत कर सकेंगे
  • पीएम मोदी ने कहा कि अब दुनिया को प्री और पोस्ट कोरोना काल के नाम से जाना जाएगा।

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी इंडिया-इटली वर्चुअल समिट के दौरान कहा कि कोरोना महामारी को लेकर अलग अलग देशों में शोध जारी है। लेकिन इस वायरस की प्रकृति को लेकर साफ तौर कर कोई भी कुछ कह पाने की स्थिति में नहीं है। उन्हें उम्मीद है कि आने वाले समय में दुनिया इस महामारी के चक्र से बाहर निकल जाएगी। लेकिन सबसे पहले इटली में जिन लोगों ने अपनी जान कोरोना की वजह से गंवाई उनके प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं। वो समझते हैं कि इस वायरस की वजह से इटलीवासियों को कितनी दिक्कत का सामना करना पड़ा है। 

कोरोना काल वाटरशेड मोमेंट की तरह
पीएम मोदी ने कहा यह जानकर अच्छा लगा कि इटली जिस पर कोरोना कहर बनकर टूट पड़ा था उसने खुद को तेजी से संभाल लिया। यही नहीं इटली के पीएम गुसेप कोंटे ने जिस तरह से पूरे देश को बांधे रखा वो अपने आप में काबिलेतारीफ है। पीएम मोदी ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि कोरोना की वजह से हालात में जैसे ही सुधार आएगा वो इटली के सांसदों का भारत की संसद में स्वागत कर सकेंगे।

अब प्री और पोस्ट कोरोना काल का होगा जिक्र
कोरोना महामारी इतिहास में एक विभाजक क्षण के तौर पर याद किया जाएगा जिस तरह से दुनिया को हम प्री वर्ल्ड वार 2 और पोस्ट वर्ल्ड वार 2 के तौर पर देखते हैं। हम सबको कोरोना के बाद के हालात के हिसाब से ढालना होगा। हमें कोरोना की वजह से उत्पन्न चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि यह सच है कि इस तरह की आपदा से तरह तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ा। लेकिन दूसरा पक्ष यह भी है कि हमने इसमें अवसर भी खोजा। भारत का उदाहरण देते हुए कहा कि कोरोना से पहले देश में पीपीई किट नहीं बनते थे। लेकिन आज हम आत्मनिर्भर हैं। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर