पीएम मोदी ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को दिया मंत्र, कोरोना को मात देने के लिए चार बिंदुओं पर करें काम

देश
ललित राय
Updated Apr 02, 2020 | 15:47 IST

कोरोना पर चर्चा के लिए पीएम नरेंद्र मोदी आज राज्यों के सीएम के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जुड़े। उन्होंने कहा कि यह साझी लड़ाई है जिसमें केंद्र सभी राज्यों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर आगे बढ़ रहे हैं।

कोरोना पर अंतिम प्रहार, राज्यों के सीएम के साथ पीएम मोदी करेंगे बातचीत
पीएम नरेंद्र मोदी 

मुख्य बातें

  • देशभर में कोरोना के कुल 1834 मामले, अब तक 41 लोगों की हुई मौत
  • दिल्ली हॉट स्पॉट के तौर पर उभरा, महाराष्ट्र में तेजी से बढ़े मामले
  • 25 मार्च के बाद कोरोना के केस में 1000 से ज्यादा का इजाफा

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमित लोगों की तादाद अब 2 हजार के करीब है। अगर 25 मार्च के आंकड़े को देखें तो 500 लोग शिकार थे। लेकिन एक हफ्ते के अंदर इसमें 1 हजार से ज्यादा का इजाफा हुआ। पिछले तीन दिन में करीब 400 लोग बढ़े हैं। कोरोना संक्रमण का खतरा अब और तेजी से पांव इसलिए फैला रहा है कि तबलीगी जमात की मरकज में शामिल लोग इस समय देश के अलग अलग हिस्सों में पहुंच चुके हैं। बड़ी बात यह है कि जमात की मरकज में शामिल कुछ लोगों में कोरोना के लक्षण पाए गए थे।

 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से पीएम मोदी का संवाद
अब इस चुनौती से पार पाने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जुड़े। उन्होंने कहा कि कोरोना का मुद्दा किसी राज्य विशेष से नहीं जुड़ा हुआ है। देश के सभी राज्य इसकी चपेट में है। कोरोना के खिलाफ लड़ाई में हम सब मिलजुल कर लड़ रहे हैं और इस लड़ाई में किसी भी राज्य के साथ भेदभाव करने का कोई सवाल है। केंद्र की नजर में सभी राज्य बराबर हैं। वो चाहते हैं कि राज्यों और राज्यों के बीच भी बेहतर समन्वय स्थापित हो ताकि हमारी लड़ाई कमजोर न पड़े।

मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिग की कुछ खास बातें

  • अरुणाचल के सीएम पेमा खांडू ने ट्वीट किया कि 15 अप्रैल के बाद लॉकडाउन नहीं रहेगा। लेकिन बाद में ट्वीट हटा दिया गया। फिर सफाई आई कि जिस अधिकारी ने ट्वीट को अपलोड किया उसकी हिंदी अच्छी नहीं है। 
  • पीएम नरेंद्र मोदी ने सभी मुख्यमंत्रियों से कहा कि अगले कुछ हफ्तों तक टेस्टिंग, ट्रेसिंग, आइसोलेशन और क्वारंटाइन पर ही ध्यान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस समय आवाश्यक मेडिकल सर्विस, और कारखानों के लिए कच्चे उत्पादों पर बल देने की आवश्यकता है ताकि मेडिकल औजारों या दवाइयों में किसी तरह की कमी न हो। 
  • सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने निजामुद्दीन मरकज के बाद उपजे हालात पर जानकारी दी। पीएम को यह बताया गया कि सोशल डिस्टेंसिंग, ट्रैंकिंग, संदिग्धों की पहचान और क्वारंटाइन करने की दिशा में काम चल रहा है।

महाराष्ट्र और दिल्ली में तेजी से मामले बढ़े
बता दें कि महाराष्ट्र में कोरोना के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। इसके साथ ही अब दिल्ली भी हॉट स्पॉट के तौर पर उभर चुका है। इसके साथ ही तबलीगी जमात के सदस्य जिस तरह देश के अलग अलग हिस्सों में फैल चुके हैं उसकी वजह से चिंता और बढ़ गई है। अभी जो रिपोर्ट आ रही है कि उसके मुताबिक कुल 1837 मामलों में 19 फीसद केस का रिश्ता उन लोगों से है जो तबलीगी जमात की मरकज में शामिल हुए थे। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर