दिल्ली में ब्लास्ट लेकिन पुलिस ने मैक्‍लोडगंज और धर्मकोट में बढ़ाई गश्त, जानिए अनूठा इजरायली कनेक्शन

देश
किशोर जोशी
Updated Jan 31, 2021 | 09:22 IST

दिल्ली में इजरायली दूतवास के पास हुए धमाके की जांच शुरू कर दी गई है। इस बीच पुलिस ने मैक्लोडगंज और धर्मकोट की भी सुरक्षा पुख्ता कर दी है।

patrolling intensified in Himachal Pradesh’s Mcleodganj and Dharamkot after Israel Embassy blast
जानिए क्या है मैक्‍लोडगंज और धर्मकोट का इजरायली कनेक्शन 

मुख्य बातें

  • दिल्ली में इजराइली दूतावास के बाहर हुए विस्फोट के बाद मैक्लोडगंज में बढ़ाई गई सुरक्षा
  • इजराइल के दूतावास के निकट शुक्रवार शाम हुआ था कम तीव्रता का धमाका
  • इस धमाके की जिम्मेदारी जैश-उल-हिंद नाम के आतंकी संगठन ने ली

नई दिल्ली:  दिल्ली के लुटियंस इलाके में औरंगजेब रोड पर स्थित इजराइली दूतावास के निकट शुक्रवार शाम हुए आईईडी विस्फोट की जांच तेज हो गई है। इस बीच जैश-उल-हिंद नाम के एक आतंकी संगठन ने इस विस्फोट की जिम्मेदारी लेने का दावा किया है। दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच की साइबर सेल उस टेलीग्राम अकाउंट की जांच कर रही है जिसमें से वायरल स्क्रीनशॉट भेजा गया था। इसके बाद से हिमाचल प्रदेश के मैक्लोडगंज और धर्मकोट में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है।

कांगड़ा पुलिस का अलर्ट

क्राइम ब्रांच उन लोगों के विवरणों की भी जांच कर रही है जिन्होंने कल दोपहर 3 बजे से 6 बजे के बीच और एपीजे अब्दुल कलाम रोड से कैब में यात्रा की थी। दिल्ली में हुए धमाके के बाद हिमाचल प्रदेश के मैक्लोडगंज में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। कांगड़ा पुलिस ने इसे लेकर अलर्ट जारी किया है। पुलिस ने आदेश दिए है कि यहां रहने वाले इजरायलियों पर नजर रखी जाए। 

मैक्लोडगंज और धर्मकोट का इजरायली कनेक्शन

अब आप भी सोच रहे होंगे कि दिल्ली में धमाका हुआ है तो मैक्लोडगंज तथा धर्मकोट की सुरक्षा क्यों बढ़ाई जा रही है। दरअसल मैक्लोडगंज से करीब तीन किलोमीटर दूर धर्मकोट गांव है जहां बड़ी संख्या में इजरायली आबादी रहती हैं जिसक कहां इसे मिनी इजरायल भी कहा जाता है। धर्मकोट गांव में  'कबाद हाउस' यानि इजरायली लोगों का पूजा घर भी है और इसमें केवल इजरायल से आने वाले लोग ही प्रवेश कर सकते हैं। इसी वजह से इजरायल से आने वाले लोगों का यह पंसदीदा पर्यटक स्थल है।

धमाके का ईरान से संबंध
आपको बता दें कि दिल्ली में जिस जगह धमाका हुआ था वहां एनआईए अधिकारियों के एक दल ने दौरा किया था और साइट से सामग्री एकत्र की थी। मार्ग और विस्फोट में शामिल व्यक्तियों की पहचान करने के लिए एनआईए अधिकारियों की टीम ने क्षेत्र की पूरी मैपिंग भी की। एनआईए विस्फोट में प्रयुक्त बम के बारे में भी पता लगाने की कोशिश करेगी, क्योंकि उसे विस्फोट स्थल से अमोनिया नाइट्रेट और बॉल बेयरिंग कण मिले हैं। विस्फोट स्थल पर जांचकर्ताओं को इजराइली दूतावास का पता लिखा एक लिफाफा मिला है। इससे कथित रूप से यह पता चला है कि घटना का संबंध किसी ईरानी से है।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर