पात्रा चॉल भूमि घोटाला मामला: शिवसेना नेता संजय राउत को ED ने लिया हिरासत में, ले गए अपने साथ

पात्रा चॉल भूमि घोटाले मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शिवसेना नेता संजय राउत के घर पर घंटो छापेमारी की उसके बाद उन्हें हिरासत में ले लिया। हालांकि उनका कहना है कि मैं दिवंगत बालासाहेब ठाकरे की सौगंध खाता हूं कि मेरा किसी घोटाले से कोई संबंध नहीं है।

Patra Chawl land scam case: Shiv Sena leader Sanjay Raut detained by ED
संजय राउत को ईडी हिरासत में लिया 
मुख्य बातें
  • ईडी ने शिवसेना नेता संजय राउत के घर पर घंटो छापेमारी की।
  • मनी लॉन्डिंग के एक मामले में उन्हें हिरासत में लिया गया।
  • राउत के घर के बाहर बड़ी संख्या में शिवसेना समर्थक जमा हो गए थे।

 मुंबई: पात्रा चॉल भूमि घोटाले मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शिवसेना नेता संजय राउत के आवास पर छापेमारी के घंटों बाद उन्हें हिरासत में लिया। उनके घर के बाहर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात कर दिए गए थे क्योंकि उनके समर्थक वहां जुटने लगे थे। ईडी ने हिरासत में लेने के बाद अपने साथ ले गए। मौके पर मौजूद पार्टी कार्यकर्ताओं को उन्होंने हाथ उठाकर अभिवादन किया। ईडी द्वारा हिरासत में लिए जाने के बाद संजय राउत ने ट्वीट किया कि आप उस व्यक्ति को नहीं हरा सकते..जो कभी हार नहीं मानता! झुकेंगे नही!
जय महाराष्ट्र। फिर बाद में संजय राउत ने कहा कि लोगों के खिलाफ झूठे आरोप और दस्तावेज तैयार किए जा रहे हैं। यह सब शिवसेना और महाराष्ट्र को कमजोर करने के लिए किया जा रहा है। संजय राउत नहीं झुकेंगा। मैं पार्टी नहीं छोड़ूंगा।

ईडी के अधिकारी केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के कर्मियों के साथ आज सुबह 7 बजे संजय राउत के भांडुप उपनगर स्थित आवास 'मैत्री' पहुंचे और छापेमारी शुरू की। इस बीच, राज्यसभा सदस्य राउत ने कुछ भी गलत करने से इनकार किया है और आरोप लगाया है कि उन्हें राजनीतिक प्रतिशोध लेने के लिए निशाना बनाया जा रहा है। उन्होंने ईडी की कार्रवाई के कुछ ही देर बाद ट्वीट किया कि मैं दिवंगत बालासाहेब ठाकरे की सौगंध खाता हूं कि मेरा किसी घोटाले से कोई संबंध नहीं है। उन्होंने लिखा कि मैं मर जाऊंगा, लेकिन शिवसेना का साथ नहीं छोडूंगा।

उधर बीजेपी नेता किरीट सोमैया ने ट्वीट किया, माफिया संजय पांडे के बाद घोटालेबाज संजय राउत अब ईडी की गिरफ्त में, नवाब मलिक के पड़ोसी बनेंगे संजय राउत। हिसाब तो देना ही पड़ेगा।

गौर हो कि ईडी ने मनी लॉन्डिंग के एक मामले में शिवसेना के नेता और सांसद संजय राउत के मुंबई स्थित आवास पर रविवार को छापा मारा। ईडी की छापेमारी के दौरान राउत के आवास के बाहर बड़ी संख्या में शिवसेना के समर्थक एकत्र हो गये और एजेंसी की कार्रवाई का विरोध किया। समर्थकों ने हाथों में भगवा रंग के झंडे और बैनर लेकर एजेंसी के खिलाफ नारेबाजी की। राउत ने घर की खिड़की से समर्थकों की ओर हाथ हिलाया। एक अधिकारी ने बताया कि बलार्ड एस्टेट इलाके में स्थित ईडी कार्यालय के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। उन्होंने बताया कि ईडी कार्यालय की ओर जाने वाले मार्ग पर वाहनों की आवाजाही रोक दी गयी है और अवरोधक लगाए गए हैं।

कैसे सामने आया पात्रा चॉल भूमि घोटाला? जिसमें फंसे शिवसेना सांसद संजय राउत

इससे पहले, ईडी ने राउत के खिलाफ कई समन जारी किए थे, उन्हें 27 जुलाई को भी तलब किया गया था। राउत को मुंबई के एक चॉल के पुनर्विकास और उनकी पत्नी और अन्य सहयोगियों की संलिप्तता वाले लेन-देन में कथित अनियमितताओं से जुड़े धनशोधन के एक मामले में पूछताछ के लिए ईडी ने तलब किया था। राउत इस मामले में अपना बयान दर्ज करवाने के लिए एक जुलाई को मुंबई में एजेंसी के समक्ष पेश हुए थे। इसके बाद एजेंसी ने उन्हें दो बार तलब किया था, लेकिन मौजूद संसद सत्र में व्यस्त रहने का हवाला देते हुए पेश नहीं हुए।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर