बाढ़-महंगाई और कर्ज से जूझ रहा PAK, इंडिया संग करेगा कारोबार, FM बोले- खोलेंगे ट्रेड रूट

देश
अभिषेक गुप्ता
अभिषेक गुप्ता | Principal Correspondent
Updated Aug 29, 2022 | 18:00 IST

Pakistan to resume trade with India: पाकिस्तान में लगभग 3.3 करोड़ लोग बाढ़ से प्रभावित हुए, जबकि खबर लिखे जाने तक 1,061 लोगों की जान चा जुकी है।

pakistan, floods, inflation, india, trade route
पाकिस्तान के दक्षिण पश्चिमी बलूचिस्तान प्रांत के सोहबतपुर जिला में सोमवार (29 अगस्त, 2022) को जलमग्न सड़कों पर अपने बच्चे और सामान के साथ आते हुए कुछ महिलाएं। (क्रिएटिवः अभिषेक गुप्ता)  |  तस्वीर साभार: AP
मुख्य बातें
  • विनाशकारी बाढ़ से सब्जियों-फलों के दाम में भारी उछाल
  • टमाटर 500 रुपए किलो तो प्याज रहा 400 रुपए प्रति किलो
  • आलू की कीमत 40 रुपए किलो से बढ़कर हुई 120 किलो

Pakistan to resume trade with India: बाढ़, महंगाई और भारी-भरकंप कर्ज से जूझ रहा पाकिस्तान के साथ फिर से कारोबार करेगा। सोमवार (29 अगस्त, 2022) को पाकिस्तान की ओर से कहा गया कि वह इंडिया के साथ ट्रेड रूट को खोलेगा। पाकिस्तानी मीडिया के हवाले से समाचार एजेंसी 'एएनआई' ने बताया, पाक वित्त मंत्री मिफ्ताह इस्माइल ने घोषणा की है कि वे लोग बारिश के बाद आई बाढ़ और खाने-पीने समेत अन्य चीजों के बढ़े बेतहाशा दाम के चलते भारत के साथ ट्रेड रूट को खोलेगा।    

बाढ़ से PAK को 10 अरब डॉलर का नुकसान
इस्माइल ने इस्लामाबाद में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान यह भी बताया कि मुल्क में विनाशकारी बाढ़ ने देश की अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों में कम से कम 10 अरब डॉलर का नुकसान पहुंचाया है। 'द न्यूज' की रिपोर्ट में  मिफ्ताह के बयान के हवाले से 'आईएएनएस' ने बताया कि यह शुरूआती आकलन थे, जो जमीनी स्तर पर सर्वे करने के बाद बढ़ सकते हैं। शुरुआती आकलन से पता चलता है कि वहां पंजाब, सिंध, बलूचिस्तान और खैबर पख्तूनख्वा के प्रमुख बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में अनगिनत घरों, होटलों और सड़कों को नुकसान पहुंचा। साथ ही मुल्क के विभिन्न हिस्सों में 1,000 से अधिक लोग और लाखों पशु मारे गए।

आंकड़ों में समझें कि कितना हुआ नुकसान?
राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) के ताजा के मुताबिक, जून में जारी मूसलाधार बारिश और फिर बाढ़ के बाद से कम से कम 1,000 लोग मारे गए, जबकि 1,527 लोग घायल हुए। आपदा में 949,858 घर आंशिक रूप से या पूरी तरह से नष्ट हो गए हैं, जिससे देश में लाखों लोग बेघर हुए। मृतकों में 348 बच्चे और 207 महिलाएं हैं। मानसून में सिंध प्रांत सर्वाधिक प्रभावित क्षेत्र रहा। फ्लैश फ्लड्स में करीब 3,451 किलोमीटर सड़कें, 149 पुल और 170 दुकानें बह गईं। (एजेंसी इनपुट्स के साथ)

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
ET Now
ET Now Swadesh
Mirror Now
Live TV
अगली खबर