कल सेवामुक्त हो जाएगा देश का पहला विध्वंसक INS राजपूत, गौरवशाली रहे 41 साल

देश
Updated May 20, 2021 | 16:43 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

INS Rajput: 21 मई को भारतीय नौसेना के पहले विध्वंसक- आईएनएस राजपूत के सेवामुक्त होने के साथ एक गौरवशाली युग का अंत होगा। इसने 41 साल तक नौसेना को सेवा प्रदान की।

ins rajput
आईएनएस राजपूत 

नई दिल्ली: भारतीय नौसेना का पहला विध्वंसक, INS राजपूत शुक्रवार यानी 21 मई को 41 साल बाद सेवामुक्त होने के लिए तैयार है। रक्षा मंत्रालय ने ये जानकारी दी है। तत्कालीन यूएसएसआर द्वारा निर्मित आईएनएस राजपूत को पहली बार 4 मई, 1980 को कमीशन किया गया था, और इसने भारतीय नौसेना को 41 वर्षों से अधिक समय तक सेवा प्रदान की है।

आईएनएस राजपूत को नौसेना डॉकयार्ड, विशाखापत्तनम में एक समारोह में सेवामुक्त किया जाएगा। कोविड 19 महामारी के कारण समारोह एक साधारण कार्यक्रम होगा, जिसमें केवल इन-स्टेशन अधिकारी और नाविक शामिल होंगे, जिसमें कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन किया जाएगा।

आईएनएस राजपूत का निर्माण निकोलेव (वर्तमान यूक्रेन) में 61 कम्युनार्ड्स शिपयार्ड में उनके मूल रूसी नाम 'नादेजनी' के तहत किया गया था जिसका अर्थ है 'होप'। इसे 17 सितंबर 1977 को लॉन्च किया गया था। मंत्रालय ने कहा कि राष्ट्र के लिए उसकी चार दशकों की शानदार सेवा के दौरान, जहाज को पश्चिमी और पूर्वी दोनों बेड़े में सेवा देने का गौरव प्राप्त है। 'राज करेगा राजपूत' के आदर्श वाक्य और अदम्य भावना के साथ आईएनएस राजपूत का वीर दल देश के समुद्री हित और संप्रभुता की रक्षा के लिए हमेशा सतर्क और हमेशा 'ऑन कॉल' रहा है।

जहाज ने राष्ट्र को सुरक्षित रखने के उद्देश्य से कई अभियानों में भाग लिया है। इनमें से कुछ में IPKF की सहायता के लिए श्रीलंका में ऑपरेशन अमन, श्रीलंका के तट पर पेट्रोलिंग ड्यूटी के लिए ऑपरेशन पवन, मालदीव से बंधक स्थिति को हल करने के लिए ऑपरेशन कैक्टस और लक्षद्वीप से ऑपरेशन क्रॉसनेस्ट शामिल हैं। इसके अलावा, जहाज ने कई द्विपक्षीय और बहुराष्ट्रीय अभ्यासों में भाग लिया। यह जहाज भारतीय सेना रेजिमेंट- राजपूत रेजिमेंट से संबद्ध होने वाला पहला भारतीय नौसेना जहाज भी था।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर