अखिलेश यादव के बयान के बाद उमर अब्दुल्ला बोले, कोरोना वैक्सीन लगवाऊंगा

नेशनल कांफ्रेस के कद्दावर नेता उमर अब्दुल्ला का कहना है कि उन्हें वैक्सीन से परहेज नहीं है, वैक्सीन किसी पार्टी की नहीं है।

कोरोना वैक्सीन पर अखिलेश यादव की ना, उमर अब्दुल्ला बोले खुशी होगी और कही दिलचस्प बात
उमर अब्दुल्ला, पूर्व सीएम जम्मू-कश्मीर 
मुख्य बातें
  • उमर अब्दुल्ला बोले- वो कोरोना वैक्सीन लगवाएंगे, वैक्सीन किसी पार्टी की नहीं
  • अखिलेश यादव ने कहा था कि बीजेपी की वैक्सीन नहीं लगवाएंगे
  • अखिलेश यादव के बयान को बीजेपी ने वैज्ञानिकों का अपमान बताया

नई दिल्ली। कोविशील्ड के बाद अब आपातकालीन उपयोग के लिए कोवैक्सीन को भी मंजूरी दे दी गई है। लेकिन उससे पहले सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि कम से कम वो बीजेपी का वैक्सीन नहीं लगवा सकते हैं। 2022 में जब अपनी सरकार बनेगी तो फ्री में सबका टीकाकरण होगा। उनके इस बयान के बाद बीजेपी हमलावर हुई और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या का बयान आया कि उन्होंने वैज्ञानिकों का अपमान किया है। इन सबके बीच जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला का बयान भी दिलचस्प है। 

वैक्सीन लगवाऊंगा, बोले उमर
उमर अब्दुल्ला कहते हैं कि वो किसी और के बारे में तो नहीं जानते हैं, लेकिन वो जिंदादिली और खुशदिल होकर कोविड वैक्सीन लगवाएंगे। यह बदमाश वायरस इतना तबाही पहले ही मचा चुका है। अगर कोई वैक्सीन इसके खात्मे के लिए आती है तो वो खुशी खुशी आगे आएंगे और उनकी तरफ से हां है। 

इस विषय पर राजनीति उचित नहीं
उमर अब्दुल्ला ने कहा कि जितने लोग वैक्सीनेशन करवाएंगे, देश और अर्थव्यवस्था के लिए उतना अच्छा है। वैक्सीन किसी राजनीतिक पार्टी की नहीं है। यह मानवता के लिए है और जितनी जल्दी ये अतिसंवेदनशील लोगों तक पहुंचेगी उतना ही अच्छा होगा। उन्होंने कहा कि हर विषय को राजनीति में घसीटना उचित नहीं होगा। जो फैसले मानवता के लिए उस मुद्दे पर किसी तरह की राजनीति के लिए जगह नहीं है। 

गिरिराज सिंह ने अखिलेश पर कसा तंज
अखिलेश यादव के बयान पर बीजेपी के कद्दावर नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने तंज कसा। उन्होंने ट्वीट के जरिए कहा कि यह अत्यंत दुखद है कि अखिलेश यादव इस तरह का बयान दे रहे हैं। लेकिन बड़ी बात तो यह है कि वो चुपचाप वैक्सीन लगवा लेंगे और सपाइयों की जान ले लेंगे। विरोध किसी जायज विषय पर हो वो बात समझ में आती है। लेकिन विरोध का चश्मा ही पहन लिया जाए तो उसे उचित नहीं कहा जा सकता है।  

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर