[EXCLUSIVE] जानिए कैसा होगा छत्तीसगढ़ के 'अमर जवान ज्योति' का स्वरूप, 3 फरवरी को राहुल गांधी रखेंगे नींव

देश
गौरव श्रीवास्तव
गौरव श्रीवास्तव | कॉरेस्पोंडेंट
Updated Jan 29, 2022 | 19:02 IST

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने बताया कि 3 फरवरी को रायपुर में राहुल गांधी अमर जवान ज्योति की आधारशिला रखेंगे।

Amar Jawan Jyoti, Congress, BJP, Amar Jawan Jyoti in Chhattisgarh, Chhattisgarh CM Bhupesh Baghel, Rahul Gandhi, Central Government, National War Memorial
Amar Jawan Jyoti:अब छत्तीसगढ़ में भी अमर जवान ज्योति,3 फरवरी को राहुल गांधी रखेंगे आधारशिला 
मुख्य बातें
  • अब छत्तीसगढ़ में भी अमर जवान ज्योति
  • 3 फरवरी को राहुल गांधी रखेंगे आधारशिला
  • छत्तीसगढ़ के सीएम भूुपेश बघेल ने ट्वीट कर दी जानकारी

छत्तीसगढ़ सरकार अमर जवान ज्योति बनाएगी। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज इसकी घोषणा करते हुए कहा कि 3 फरवरी को राहुल गांधी अमर जवान ज्योति की नींव रखेंगे। हाल ही में दिल्ली के इंडिया गेट स्थित अमर जवान ज्योति की फ्लेम को समर स्मारक की ज्योति में मिला दिया। इसके बाद उठे राजनीतिक उफान में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा था कि, 'बहुत दुख की बात है कि हमारे वीर जवानों के लिए जो अमर ज्योति जलती थी, उसे आज बुझा दिया जाएगा. कुछ लोग देशप्रेम व बलिदान नहीं समझ सकते, कोई बात नहीं. हम अपने सैनिकों के लिए अमर जवान ज्योति एक बार फिर जलाएंगे!'

राहुल गांधी की बात को ही आगे बढ़ाते हुए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज ट्वीट करके घोषणा की, 'हमारे शहीदों की वीर गाथाएं हमारी पीढ़ियों के लिए प्रेरणा पुंज हैं। देश के लिए न लड़ने वाले ये सब नहीं समझेंगे।माननीय राहुल गांधी जी 3 फरवरी को छत्तीसगढ़ में “अमर जवान ज्योति” की नींव रखेंगे।भारत माता के सपूतों को यही सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

इस घोषणा के बाद से लोगों के मन मे सवाल है कि आखिर छत्तीसगढ़ के रायपुर में बनने जा रहे नए 'अमर जवान ज्योति' का स्वरूप कैसा होगा. टाइम्स नाउ नवभारत आपको एक्सक्लुसिव बताने जा रहा है कि इसमें क्या क्या होगा? 

भूपेश बघेल ने क्या कहा
हमारे शहीदों की वीर गाथाएँ हमारी पीढ़ियों के लिए प्रेरणा पुंज हैं। देश के लिए न लड़ने वाले ये सब नहीं समझेंगे।माननीय राहुल गांधी जी 3 फरवरी को छत्तीसगढ़ में “अमर जवान ज्योति” की नींव रखेंगे।भारत माता के सपूतों को यही सच्ची श्रद्धांजलि होगी।


अमर जवान ज्योति की खासियत

  1.  शहीदों के नाम वाली दीवार- इस दीवार का निर्माण ब्राउन कलर के मार्बल से और शहीदों के नाम को उसी मार्बल में आ अंकित किया जाएगा. यह दीवार लगभग 25 फीट ऊंची एवं लगभग 100 फीट लंबी अर्धचंद्राकार रूप में होगी. इस दीवार की मोटाई 3 फीट होगी.
  2. मेमोरियल टॉवर: मेमोरियल टॉवर की स्थापना अर्धचंद्राकर शहीदों के नाम वाली दीवार के सामने होगी जिसके लिए बलुआ पत्थर, व्हाईट मार्बल, सोनाईट का इस्तेमाल होगा. इस मेमोरियल टॉवर के ऊपर 20 फीट लंबाई एवं 20 फीट चौड़ाई का आधार रहेगा. इस आधार की ऊंचाई 10 फीट रहेगी जिसके ऊपर 50 फीट का मेमोरियल टॉवर स्थापित किया जायेगा जिसके सबसे ऊपरी हिस्से में स्मृति चिन्ह का निर्माण कराया जायेगा. इस मेमोरियल टॉवर के सामने वाले आधार पर प्रतीक चिह्न के तौर पर रायफल और हेलमेट बना रहेगा। इसी प्रतीक चिन्ह के सामने एक अमर ज्योति प्रज्जवलित होगी जो गैस पाईप लाईन के माध्यम से चौबीसों घण्टे जलती रहेगी. 
  3. अतिविशिष्ट मंच: अति विशिष्ट लोगों के बैठने के लिए 40 फीट लंबाई एवं 40 फीट चौड़ाई का मंच तैयार किया जायेगा. 
  4. मेमोरियल टॉवर के दोनों ओर अर्धचंद्राकार में अधिकारी, शहीदों के परिजन, आम नागरिकों के बैठने की व्यवस्था रहेगी। इस दोनों अर्धचंद्राकार के आधार पर चार सीढियां होंगी जिसकी ऊंचाई 4फीट रहेगी. इन दोनों ओर के अर्धचंद्राकार की लंबाई 130-130 फीट रहेगी जिसके ऊपर कालम के सहारे 12 फीट की ऊंचाई पर छत रहेगी। मैमोरियल टॉवर के सामने का हिस्सा खुला रहेगा जिस पर 01-01 फीट ऊंचाई का दोनों ओर सीढ़ी का निर्माण कराया जायेगा।
  5.  मेमोरियल टॉवर के ठीक सामने किलानुमा दो मंजिला भवन का निर्माण कराया जायेगा जिस भवन के आधार की लंबाई 150 फीट एवं चौड़ाई 90 फीट होगी इस भवन की ऊंचाई 40 फीट होगी. उस भवन के सामने 16 बिगुलरों के खड़े होने के लिए 16 नग गुंदद का निर्माण कराया जायेगा। इस भवन के प्रथम तल पर शहीदों के चित्र प्रदर्शनी और दूसरे तल पर हथियारों की प्रदर्शनी होगी.
  6. इस इकाई में प्रतिवर्ष 21 अक्टूबर को आयोजित होने वाले राज्यस्तरीय पुलिस स्मृति दिवस के दौरान शामिल होने वाले शहीदों के परिजनों के ठहरने के लिए मेस और 15-15 कमरे का निर्माण होगा. 
  7. शहद मेमोरियल टॉवर को देखने के लिए आने वाले विजिटर्स के लिए वाहनों की पार्किंग बनाई जाएगी.
  8. पार्किंग के सामने आगंतुको हेतु कैफेटेरिया का निर्माण कराया जायेगा। 
  9. शहीद मेमोरियल टॉवर के प्रवेश हेतु भव्य किलानुमा प्रवेश द्वार का निर्माण कराया जायेगा जिसकी लंबाई 50 फीट ऊंचाई 20 फीट एवं चौड़ाई 4 फीट होगी।

 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर