बेंगलुरु में नहीं मनेगा 2021 का जश्न, 31 दिसंबर को शहर में लगेगी धारा 144  

बेंगलुरु के पुलिस कमिश्नर कमल पंत ने कहा कि एमजी रोड, चर्च स्ट्रीट, ब्रिगेड रोड, कोरामंगला एवं इंदिरानगर में 'नो मैन' जोन बनाए जाएंगे।  पब, बॉर, रेस्तरां में अग्रिम बुकिंग कराने वाले लोगों को ही वहां जाने की इज

 No new year celebrations in Bengaluru on 31st Dec seection 144 to be imposed
बेंगलुरु में नहीं मनेगा 2021 का जश्न।  |  तस्वीर साभार: ANI

बेंगलुरु : बेंगलुरु में नए साल का जश्म मनाने की तैयारी कर रहे लोगों को लिए बुरी खबर है। शहर में 31 दिसंबर की शाम छह बजे से 1 जनवरी 2021 की सुबह छह बजे तक धारा 144 लागू रहेगी। शहर में सार्जजनिक जगहों पर नए साल का जश्न मनाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।  राज्य के गृह मंत्री  बसवराज बोम्मई ने सोमवार को कहा कि कोविड-19 के प्रकोप और ब्रिटेन में कोरोना के नए प्रकार के सामने आने के बाद 31 दिसंबर को सार्वजनिक जगहों पर नए साल का जश्न आयोजित करने की इजाजत नहीं होगी।

बेंगलुरु के पुलिस कमिश्नर कमल पंत ने कहा कि एमजी रोड, चर्च स्ट्रीट, ब्रिगेड रोड, कोरामंगला एवं इंदिरानगर में 'नो मैन' जोन बनाए जाएंगे।  पब, बॉर, रेस्तरां में अग्रिम बुकिंग कराने वाले लोगों को ही वहां जाने की इजाजत दी जाएगी।

Bengaluru

नाइट कर्फ्यू की घोषणा ली वापस
इससे पहले कर्नाटक सरकार ने राज्य में नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया था लेकिन एक दिन बाद उसने अपने इस आदेश को वापस ले लिया। ब्रिटेन में कोरोना वायरस का नया प्रकार सामने आने के बाद महाराष्ट्र अपने यहां नाइट कर्फ्यू की घोषणा करने वाला देश का पहला राज्य है। महाराष्ट्र के बाद कर्नाटक ने भी नाइट कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया लेकिन बाद में उसे अपना आदेश वापस लेना पड़ा।  

कोरोनी का जांच नहीं कराने वालों पर हो सकती है कार्रवाई
इससे पहले स्वास्थ्य मंत्री डॉ. के सुधाकर ने ब्रिटेन से आए ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई का संकेत दिया है, जिन्होंने कोविड-19 की जांच नहीं करायी है और अपने मोबाइल फोन बंद कर लिए हैं। उन्होंने कहा,‘मैं ब्रिटेन से लौटे लोगों से जिम्मेदार नागरिक की तरह सहयोग करने का अनुरोध करता हूं। आप को (कोविड-19 की) जांच कराना है। अगर आपने जांच नहीं करायी और मोबाइल फोन बंद रखा तो यह वास्तव में एक अपराध होगा।’ आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि ब्रिटेन से लौटे करीब 300 लोगों का पता लगाया जा रहा है।

अभी स्कूल खोलने पर फैसला नहीं
स्कूलों और इंटरमीडिएट कॉलेजों को खोले जाने के बारे में पूछे जाने पर सुधाकर ने कहा कि इस बारे में वह शिक्षा मंत्री से बात करेंगे। उन्होंने कहा कि नए तरह के कोरोना वायरस के सामने आने से घबराने की जरूरत नहीं है।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर