Republic Day Parade: बिना विदेशी अतिथि गणतंत्र दिवस परेड, कोविड बना खलनायक

इस बार गणतंत्र दिवस परेड में कोई विदेशी अतिथि नहीं होगा। करीब 55 साल का यह रिकॉर्ड टूटेगा। विदेश मंत्रालय का कहना है कि कोविड की वजह से फैसला किया गया है।

Republic Day Parade:कोविड की वजह से बिना विदेशी अतिथि होगा गणतंत्र दिवस परेड
26 जनवरी को आरडी परेड में कोई विदेशी अतिथि नहीं होगा शामिल 

मुख्य बातें

  • इस दफा गणतंत्र दिवस परेड में कोई विदेशी अतिथि शामिल नहीं होगा
  • ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन थे मुख्य अतिथि, कोविड की वजह से आने में जताई असमर्थता
  • विदेश मंत्रालय का बयान- कोविड की वजह से अब किसी भी विदेशी अतिथि को नहीं बुलाने का फैसला

नई दिल्ली। 26 जनवरी को भारत के 70 वां गणतंत्र दिवस मनाएगा। लेकिन इस दफा खास बात यह है कि भी देश के राष्ट्रप्रमुख मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद नहीं होंगे। विदेश मंत्रालय ने इस संबंध में बयान जारी किया है और कहा कि कोरोना वायरस के कारण इस साल के गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि के रूप में किसी विदेशी राष्ट्र प्रमुख या सरकार के मुखिया को आमंत्रित नहीं करने का फैसला किया गया है। बड़ी बात यह है कि  साढ़े पांच दशक में पहला मौका होगा, जब भारत का गणतंत्र दिवस बिना मुख्य अतिथि के मनाया जाएगा।

ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन थे मुख्य अतिथि
गणतंत्र दिवस समारोह के के लिए ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को मुख्य अतिथि बनाया था, लेकिन उन्होंने अपने देश में कोरोना से बिगड़ते हालात के कारण दौरे को रद्द कर दिया था। ऐसे समय में जब पूरी दुनिया कोरोना महामारी से निपट रही हो तब किसी नए राष्ट्राध्यक्ष या शासन के प्रमुख को निमंत्रित करना भी आसान कार्य नहीं था। ऐसे में सरकार ने इस साल बिना मुख्य अतिथि के गणतंत्र दिवस मनाने का फैसला किया है। 


जानसन बोले थे- रोमांचक वर्ष की होगी शुरुआत

निमंत्रण स्वीकार करते हुए, ब्रिटेन के पीएम ने असीम प्रसन्नता व्यक्त की और कहा, "मैं ग्लोबल ब्रिटेन के लिए एक रोमांचक वर्ष की शुरुआत में अगले साल भारत का दौरा करके बिल्कुल खुश हूं, और हमारे द्विपक्षीय संबंधों में क्वांटम छलांग देने के लिए तत्पर हूं।" प्रधानमंत्री (नरेंद्र) मोदी और मैंने इसे हासिल करने का संकल्प लिया है।हालांकि, यूके में कोरोनवायरस के एक नए तनाव का पता चलने के बाद उनकी यात्रा रद्द होने के बाद, जॉनसन ने पीएम नरेंद्र मोदी को फोन किया और भारत की यात्रा करने में असमर्थता जताई।

1993 में ब्रिटिश पीएम ने लिया था हिस्सा
ब्रिटेन के पीएम ने 2021 की पहली छमाही में भारत की यात्रा करने का वादा किया। 27 वर्षों के अंतराल के बाद, ब्रिटेन के प्रधान मंत्री को भारत के 70 वें गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि के रूप में जाना चाहिए था। ब्रिटेन के पूर्व पीएम जॉन मेजर ने 1993 में नई दिल्ली में गणतंत्र दिवस परेड में भाग लिया था। अपनी यात्रा को बंद करने के जॉनसन के फैसले के बाद, रिपोर्ट्स ने गोल करना शुरू कर दिया था जिसमें कहा गया था कि भारतीय मूल के रिपब्लिकन ऑफ सूरीनाम के राष्ट्रपति, चन्द्रिकाप्रसाद संतोखी को इस वर्ष भारत के गणतंत्र दिवस परेड में मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया जाएगा।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर