News Ki Pathshala: जुमे की नमाज के बाद पत्थरबाजी पर बड़ा खुलासा, जानिए तारिक फतेह ने क्या कहा

News Ki Pathshala: नुपुर शर्मा के बयान के 9 दिन बाद अरब और मुस्लिम देश जागे। जिस तरह से कानपुर में हिंसा हुई और वो भी तब जब बयान वापस लिया जा चुका है उसके बाद हिंसा हुई। सबसे बड़ा सवाल ये है कि ये देश कैसे चलेगा? सर तन से जुदा या भारत के संविधान से। 

News Ki Pathshala: Big disclosure on stone pelting after Friday prayers, know what Tariq Fateh said?
नुपुर शर्मा की गिरफ्तारी की मांग को लेकर हिंसा 

News Ki Pathshala: हम आपको न्यूज की पाठशाला में लगातार अलर्ट कर रहे थे कि इस देश में माहौल बिगाड़ने की साजिश रची जा रही थी। एक बयान के बाद जिस तरह से प्रतिक्रिया हुई, जिस तरह से 9 दिन बाद अरब और मुस्लिम देश जागे। जिस तरह से कानपुर में हिंसा हुई। और वो भी तब जब बयान वापस लिया जा चुका है। बयान पर माफी मांगी जा चुकी है। बयान पर कानूनी कार्रवाई हो रही है। और बयान देने वाले के खिलाफ उनकी पार्टी ने भी कार्रवाई कर दी है। जब इतना सब हो चुका है, तो फिर आज देश भर में कैसे शहर शहर हिंसा हुई। कैसे जुमे की नमाज के बाद पत्थर चलने लगे। सबसे बड़ा सवाल ये है कि ये देश कैसे चलेगा? सर तन से जुदा या भारत के संविधान से।

प्रयागराज में छोटे छोटे लड़के पत्थर चला रहे थे। गलियों से पत्थर चला रहे थे। पुलिस पर पथराव किया जा रहा था। किसी को अरेस्ट करवाने के लिए पत्थर नहीं चला सकते। कल यही पुलिस अगर बुलडोजर चलाएगी तो यही विक्टिम कार्ड खेलने लगेंगे। मुंबई में मुस्लिम महिलाएं सड़कों पर आईं। इसमें छोटी-छोटी बच्चियों को भी शामिल किया गया था । बच्चियों को भी बुर्का और हिजाब पहनाया गया था । क्या इन बच्चियों को पता भी है कि उन्हें किस बात के लिए इस रैली में लाया गया है । 

एक विवादित बयान आया। वो विवादित बयान जिसने दिया, उसने बयान वापस ले लिया। उस पर एफआईआर भी हो गई है। सबने साफ कर दिया कि वो ऐसे बयान के खिलाफ है। इसके बाद भी दो हफ्ते से तमाशा चल रहा है। वो नारे चल रहे हैं। जिसमें बात होती है- सर तन से जुदा। सवाल ये है कि ये देश कानून से चलेगा, संविधान से चलेगा, या फिर सर तन से जुदा जैसे शरिया कानून से। सुनिए गुजरात के वडोदरा में क्या नारे लग रहे थे।

यही नारे जगह जगह लग रहे हैं। सर तन से जुदा। महाराष्ट्र के औरंगाबाद की तस्वीर देखिए। वहां भी यही हो रहा था। ये कहा जा रहा है कि जब एफआईआर हो गई तो फिर क्यों ये सब हो रहा है। तो इस पर जवाब मिलता है कि ये प्रदर्शन नुपुर शर्मा की गिरफ्तारी की मांग के लिए की जा रही है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि नुपुर शर्मा पर जिन धाराओं पर FIR हुई है, उन धाराओं में कितनी सजा है और क्या तुरंत गिरफ्तारी हो सकती है। 

जो सर तन से जुदा की बात कर रहे हैं। वो ना संविधान को मानते हैं, ना कानून को मानते हैं। ये लोग चाहते क्या हैं। ये इन्होंने आज बता दिया। कर्नाटक के बेलागावी की तस्वीर देखिए। वहां पर एक पुतले को फांसी से लटकाया गया।  जो लोग प्रदर्शन के नाम पर पत्थर चला रहे हैं। उन लोगों को पुलिस का भी डर नहीं। सामने पुलिस फोर्स खड़ी है। लेकिन पत्थर पर पत्थर चला रहे हैं। प्रयागराज का ही वीडियो देखिए। कैसे पुलिस पर बेखौफ होकर पत्थर चलाए जा रहे हैं।

कानून का डर तो दूर। रांची में तो इन्होंने सिटी एसपी का सिर फोड़ दिया। कई पुलिसवाले घायल हुए। रांची का एक वीडियो वायरल है। पुलिसवाले इनके सामने कैसे डरे हैं। वो सुन लीजिए।रांची में हुए पथराव में सिटी एसपी समेत कई पुलिसकर्मी घायल हो गए। बाइक में बिठाकर उनको ले जाया गया प्रयागराज में पुलिस की गाड़ियों भी पर पथराव किया गया, जिस में ADG पुलिस  की कार के शीशे टूट गए।प्रयागराज में भीड़ को कंट्रोल करने के दौरान डीएम भी घायल हो गए। प्रयागराज में भीड़ ने ट्रक, ठेलों, बाइकों को आग के हवाले कर दिया। 

रांची में इसी तरह हिंसा और आगजनी की गई। ये सब रांची के इकरा मस्जिद के बाहर हुआ। ऐसा लगता है कि जुमे की नमाज के बाद हिंसा की प्लानिंग थी। क्योंकि इस इलाके के आसपास की ज्यादातर दुकानें बंद थी। और इस इलाके में ज्यादातर मुस्लिम समुदाय की दुकाने हैं

सहारनपुर के भी मस्जिदों से भी नमाज के बाद एक साथ बड़ी संख्या में लोग बाहर निकले । नमाजियों ने नजदीक के चौराहे पर प्रदर्शन शुरू कर दिया । कुछ लोग सड़क पर हंगामा कर रहे थे तो बड़ी संख्या में नमाजी मस्जिदों की छतों पर मौजूद थे । सहरानपुर में हंगामा करने वाले प्रदर्शनकारी गलियों में छिप कर पत्थरबाजी कर रहे थे । काफी मशक्कत के बाद पुलिस हंगामा करने वालों पर काबू कर पाई। 

महाराष्ट्र के सोलापुर में जुमे की नमाज के बाद एक साथ नमाजी निकले। लोगों के हाथ में धार्मिक झंडा था। कुछ लोगों ने तिरंगा भी लिया हुआ था। इन नमाजियों की भीड़ में कुछ महिलाएं भी थीं। एक साथ हज़ारों लोगों के सड़क पर निकलने की वजह से पूरा इलाका जाम हो गया। काफी देर तक हंगामा होता रहा। 

दिल्ली के जामा मस्जिद के बाहर भी नमाजियों ने प्रदर्शन किया।  जैसे ही जुमे की नमाज खत्म हुई, सैकड़ों नमाजी मस्जिद के बाहर आए गए  और नारे बाजी करने लगे। प्रदर्शनकारियों के हाथों में पोस्टर और प्ले कार्ड थे। हालाकि जामा मस्जिद के शाही इमाम अहमद बुखारी ने दावा किया प्रदर्शन उनकी ओर से नहीं बुलाया गया था।

सिर्फ दिल्ली, यूपी या झारखंड में ही हंगामा नहीं हुआ। हावड़ा में जुमे की नमाज के बाद लोगों ने प्रदर्शन किया। सड़कों पर जाम लगा दिया और टायर जला कर विरोध जताया। सड़क पर प्रदर्शन की वजह से जाम भी लगा। प्रदर्शनकारियों ने हावड़ा के उलुबेरिया में भी खूब हंगामा किया। हंगामा करने वालों ने बीजेपी ऑफिस में तोड़फोड़ की और आग लगा दी। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर