सरकार का बड़ा फैसला, इंडिया गेट पर लगेगी नेताजी की मूर्ति, पीएम मोदी ने ट्वीट की तस्वीर

दिल्ली स्थित इंडिया गेट पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस की भव्य प्रतिमा लगाई जाएगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेताजी की प्रतिमा वाली तस्वीर ट्वीट की है। देश नेताजी की 125वीं जयंती मना रहा है। 

Netaji Subhas Chandra Bose grand statue, will be installed at India Gate, tweets PM Modi
इंडिया गेट पर लगेगी नेताजी की प्रतिमा। 
मुख्य बातें
  • अमर जवान ज्योति को नेशनल वॉर मेमोरियल शिफ्ट करने पर खड़ा हुआ है विवाद
  • कांग्रेस का कहना है कि सरकार देश के इतिहास को बदलने का प्रयास कर रही है
  • पीएम मोदी ने कहा है कि इंडिया गेट पर नेताजी की एक भव्य प्रतिमा लगाई जाएगी

नई दिल्ली : दिल्ली स्थित इंडिया गेट पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस की भव्य प्रतिमा लगाई जाएगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेताजी की प्रतिमा वाली तस्वीर ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। देश इस समय नेताजी की 125वीं जयंती मना रहा है। नेताजी की यह प्रतिमा ग्रेनाइट की बनी होगी। पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में कहा है कि यह नेताजी के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करने का एक प्रतीक होगा। पीएम ने कहा कि ऐसे समय में जब पूरा देश नेताजी सुभाषचंद्र बोस की 125वीं जयंती मना रहा है, वह उनकी भव्य प्रतिमा साझा कर खुशी का अनुभव कर रहे हैं। नेताजी की यह मूर्ति ग्रेनाइट की बनी होगी। इसे इंडिया गेट पर लगाया जाएगा।

नेतीजा की यह प्रतिमा 28 फीट ऊंची और छह फीट चौड़ी होगी। इंडिया गेट स्थित इस चार खंभे वाले मंडप में पहले किंग जार्ज पंचम की प्रतिमा लगी हुई थी जिसे 1968 में हटाया गया। बताया जा रहा है कि इस मंडप में नेताजी की प्रतिमा लगाई जाएगी।

Image Netaji

अमर जवान ज्योति को शिफ्ट करने पर विवाद
इंडिया गेट पर नेताजी की प्रतिमा स्थापित करने की खबर ऐसे समय सामने आई है जब अमर जवान ज्योति को नेशनल वॉर मेमोरियल में शिफ्ट करने पर विवाद खड़ा हो गया है। कांग्रेस सरकार पर हमलावर है। कांग्रेस का कहना है कि सरकार इतिहास को बदलने की कोशिश कर रही है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि उनकी सरकार बनने पर अमर जवान ज्योति फिर से जलाई जाएगी। कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने सवाल किया कि जब देश में कई युद्ध स्मारक हो सकते हैं तो कई अमर जवान ज्योति क्यों नहीं हो सकता। 

Amar jawan Jyoti: अमर जवान ज्योति के विलय पर विवाद, ठंड में चढ़ा सियासी पारा, बयानों की लगी झड़ी

पूर्व सैन्यकर्मियों ने इसे सही ठहराया
वहीं, सेना के पूर्व कमांडरों एवं जनरलों ने अमर जवान ज्योति को नेशनल वॉर मेमोरियल पर शिफ्ट करने को सरकार के फैसले को सही ठहराया है। उनका कहना है कि देश में एक ही अमर जवान ज्योति होनी चाहिए। पूर्व सैन्यकर्मियों का कहना है कि वे लंबे समय से एक राष्ट्रीय युद्ध स्मारक की मांग करते रहे हैं, उनकी यह मांग अब जाकर पूरी हुई है। 2014 से पहली की सरकार ने उनकी यह मांग कभी पूरी नहीं की।    

50 साल बाद हटेगी अमर जवान ज्योति, जानें क्या है महत्व और क्यों सरकार ने उठाया कदम

ज्योति बुझाई नहीं जाएगी-भाजपा
कर्नल (रिटायर्ड) तेज टिक्कू मैं इस विषय को सेना के एक पूर्व कर्मी के रूप में देख रहा हूं। हमारी मांग एक भव्य नेशनल वॉर मेमोरियल बनाने की रही है। 2014 से पहले जो लोग सरकार में थे, उन्होंने इस वॉर मेमोरियल को बनने नहीं दिया। इस विषय को राजनीतिक नहीं बनाना चाहिए। दुनिया में हर जगह एक ही वॉर मेमोरियल होता है। भाजपा का कहना है कि सरकार अमर जवान ज्योति को बुझा नहीं रही है बल्कि उसे शिफ्ट कर रही है। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर