एनसीपी ने कहा- ममता से ज्यादा महत्वपूर्ण कांग्रेस, साथ छोड़ने का सवाल नहीं

ममता बनर्जी की एनसीपी चीफ शरद पवार से मुलाकात के बाद यह कयास लगाया जाने लगा कि एमवीए में कांग्रेस नहीं रहेगी। इसी बीच सूत्रों के मुताबिक एनसीपी का ये बयान सामने आया।

NCP said- Congress is more important than Mamata Banerjee, there is no question of leaving together
ममता बनर्जी की शरद पवार से मुलाकात के बाद सियासत तेज 
मुख्य बातें
  • ममता बनर्जी ने कहा कि अब यूपीए का अस्तित्व नहीं है।
  • अमित मालवीय ने कहा कि कांग्रेस बेशर्मी से एमवीए में बनी रहेगी।
  • शरद पवार ने कहा कि किसी को बाहर करने का सवाल ही नहीं है।

पश्चिम बंगाल की सीएम और टीएमसी चीफ ममता बनर्जी की एनसीपी चीफ शरद पवार से मुलाकात के बाद बीजेपी के आईटी सेल प्रमुख अमित मालवीय ने ट्वीट किया कि ममता बनर्जी ने यूपीए और एमवीए के सदस्य शरद पवार से मुलाकात के बाद कांग्रेस को अलग-थलग दिया। उन्होंने यूपीए को मृत घोषित कर दिया। इस तरह के अपमान के बाद, कोई भी स्वाभिमानी राजनीतिक दल गठबंधन में नहीं रहता, लेकिन उम्मीद है कि कांग्रेस बेशर्मी से महा विकास अघाड़ी (एमवीए) में जारी रहेगी।

सूत्रों के मुताबिक एनसीपी कांग्रेस के साथ रहेगी। एनसीपी का कहना है कि ममता से ज्यादा महत्वपूर्ण कांग्रेस है। ममता का स्वागत इतने दिल से किया गया था क्योंकि उन्हें पवार के घर जाना था। कांग्रेस को छोड़ने का कोई सवाल ही नहीं। एमवीए सरकार पर कोई खतरा नहीं है। ममता जो चाहें कह सकती हैं।

एनसीपी मंत्री जयंत पाटिल भी बैठक में शामिल थे। उन्होंने कहा कि बंगाल और महाराष्ट्र एक करीबी वैचारिक है। स्वतंत्रता संग्राम में दोनों राज्यों का सर्वाधिक योगदान है। दोनों राज्यों ने बार-बार देश को रोशनी दी है। अब पवार और ममता से भी यही उम्मीद है।

मुंबई में एनसीपी चीफ शरद पवार से मुलाकात के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि अब यूपीए का अस्तित्व नहीं है। इससे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए ममता ने कहा था कि राजनीति में निरंतर प्रयास आवश्यक है। आप हमेशा विदेश में नहीं रह सकते। उन्होंने कहा कि मैंने कांग्रेस को सलाह दी थी कि विपक्ष को दिशा दिखाने के लिए सिविल सोसायटी के प्रतिष्ठित लोगों की एक सलाहकार समिति गठित की जाए, लेकिन कुछ नहीं हुआ।

कांग्रेस के बिना गठबंधन होने की संभावना पर शरद पवार ने कहा कि बीजेपी का विरोध करने वालों का साथ आने को लेकर स्वागत है। किसी को बाहर करने का सवाल ही नहीं है। एनसीपी प्रमुख पवार ने कहा कि हमने मौजूदा स्थिति और सभी समान विचारधारा वाले दलों को साथ आने और बीजेपी का एक मजबूत विकल्प प्रदान करने की आवश्यकता पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि इस समय नेतृत्व कोई मुद्दा नहीं है। हमें एकजुट होकर बीजेपी के खिलाफ काम करने की जरुरत है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर