पंजाब कांग्रेस संकट के समाधान का निकल गया फॉर्मूला! नवजोत सिंह सिद्धू होंगे प्रदेश अध्‍यक्ष!

पंजाब में जारी सियासी घमासान के बीच नवजोत सिंह सिद्धू को प्रदेश अध्‍यक्ष बनाए जाने की चर्चा है। 10 जनपथ के करीबी सूत्रों के अनुसार, सिद्धू के साथ चार कार्यकारी अध्‍यक्षों की भी नियुक्ति होनी है।

Navjot Singh Sidhu to head Punjab Congress, four working presidents to be appointed says sources
पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू (फाइल फोटो)  |  तस्वीर साभार: ANI

मुख्य बातें

  • पंजाब में कैप्‍टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच टकराव की स्थिति बनी हुई है
  • बताया जा रहा है कि पंजाब कांग्रेस में संकट के समाधान का फॉर्मूला अब निकल आया है
  • सूत्रों के अनुसार, नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का अध्‍यक्ष बनाया जाना है

चंडीगढ़ : पंजाब कांग्रेस में जारी सियासी घमासान के बीच इसका समाधान निकल आने की बातें सामने आ रही हैं। सूत्रों के अनुसार, यह लगभग साफ हो गया है कि पंजाब में नवजोत सिंह सिद्धू कांग्रेस के प्रदेश अध्‍यक्ष होंगे, जबकि उनके साथ पार्टी के चार कार्यकारी अध्‍यक्षों की नियुक्ति भी की जाएगी। कांग्रेस आलाकमान से जुड़े सूत्रों के अनुसार, इसकी घोषणा आज की जा सकती है।

यह जानकारी ऐसे समय में आई है, जबकि शनिवार को सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ से पंचकूला स्थित उनके आवास पर मुलाकात की तो पंजाब कांग्रेस के प्रभारी महासचिव हरीश रावत पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से मिलने मोहाली स्थित उनके आवास पर पहुंचे। इसके बाद कैप्‍टन अमरिंदर सिंह की ओर से कहा गया कि कांग्रेस अध्‍यक्ष का कोई भी निर्णय सभी को स्‍वीकार होगा।

निकल आया फॉर्मूला!

पंजाब में कैप्‍टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच अनबन की खबरें तभी से सुर्खियां बटोर रही हैं, जब सिद्धू बीजेपी छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए थे। हालांकि पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनाव से ठीक पहले दोनों नेताओं के बीच टकराव मुखर होकर सामने आया, जिसमें हाईकमान को दखल देना पड़ा, जिसके बाद अब 10 जनपथ (सोनिया गांधी का आवास) के करीबी सूत्रों का कहना है कि समाधान का फॉर्मूला निकल आया है।

इससे पहले पंजाब कांग्रेस में विवाद के समधान को लेकर संभावना तभी बढ़ती नजर आई थी, जब हरीश रावत से मुलाकात के बाद सीएम कैप्‍टन अमरिंदर सिंह की ओर से कहा गया कि पार्टी अध्‍यक्ष का फैसला सभी को मान्‍य होगा। हालांकि शुक्रवार को उन्‍होंने सोनिया गांधी को पत्र लिखकर कहा था कि सिद्धू को प्रदेश अध्‍यक्ष बनाए जाने से अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की संभावनाओं को झटका लग सकता है।

दिल्‍ली-पंजाब में मुलाकातों का दौर

पंजाब कांग्रेस में शीर्ष नेताओं के बीच जारी टकराव के बीच शुक्रवार को सिद्धू ने सोनिया गांधी से दिल्‍ली में उनके आवास पर मुलाकात की थी, जिसमें राहुल गांधी और हरीश रावत भी शामिल थे। इसके अगले ही दिन सिद्धू ने पंचकूला में पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ से मुलाकात की तो हरीश रावत पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह से मिलने मोहाली पहुंचे। इसे अमरिंदर सिंह को मनाने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर